प्रतापगढ़ : दीपावली के दिन कहासुनी के दौरान ससुराल में की गई पिटाई से घायल युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई। स्वजनों की सूचना पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मामले में मृतक के सास, साले समेत पांच के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है।

जेठवारा थाना क्षेत्र के सबलगढ़ (डेरवा बाजार) निवासी धर्मराज जोशी (30) पुत्र पारसनाथ जोशी की शादी गांव में ही पड़ोस के हरिकेश जोशी की बेटी आरती से हुई थी। दीपावली पर यानी 27 अक्टूबर को धर्मराज की पत्नी से कुछ कहासुनी हुई, इससे नाराज होकर आरती मायके चली गई। पीछे-पीछे धर्मराज भी ससुराल पहुंच गया। वहां पर पत्नी से कहासुनी के दौरान विवाद बढ़ गया। आरोप है कि ससुरालवालों ने धर्मराज की जमकर पिटाई की, जिससे उसे गंभीर चोट लग गई। धर्मराज को घायल देख उसके ससुर हरिकेश जोशी उसे लेकर अपनी ससुराल सलोन, रायबरेली चले गए। वहां पर एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराकर इलाज करा रहे थे।

इलाज के दौरान शनिवार रात धर्मराज की मौत हो गई। धर्मराज के सास ससुर व उसके रिश्तेदार शव का अंतिम संस्कार करने नजदीकी घाट पर जा रहे थे। खबर किसी ने धर्मराज के स्वजनों को दे दी। जिस पर स्वजनों ने सलवन पुलिस को सूचना दी। धर्मराज का शव लेकर जा रहे वाहन के चालक के मोबाइल नंबर पर संपर्क किया गया तो उसने बताया कि वह संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के नरई चौराहा के आगे धनई चौराहे पर पहुंचा है। स्वजनों ने उसे वहीं रुकने को कहा और थोड़ी देर में बोलेरो से पहुंच गए। वहां से धर्मराज का शव लेकर परिजन सबलगढ़ स्थित अपने घर पहुंचे और घटना की सूचना जेठवारा पुलिस को दी। सूचना मिलते ही एसएसआइ शंकरजी यादव, चौकी इंचार्ज डेरवा अनुज यादव पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के पिता पारसनाथ जोशी की तहरीर पर पुलिस ने धर्मराज के साले अभय व विनय, सास सुदामा देवी और सुदामा देवी के भाई राजनाथ व नंदलाल पुत्र त्रिवेणी जोशी निवासी सलोन, रायबरेली के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। एसओ जेठवारा विनोद कुमार यादव ने बताया कि आरोपितों की तलाश की जा रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप