प्रतापगढ़: पहली शादी मुंबई में पड़ोसन से रचाया, वहां से मन ऊबा तो गांव आ गया। यहां दूसरी शादी रचाने चला तो ऐन शादी के दिन मुंबई से पहली पत्नी उसके गांव के थाने में धमक पड़ी। उसकी शिकायत पर स्थानीय पुलिस ने उसके पति को हिरासत में ले लिया और वहीं नई ससुराल वाले दूल्हे की बाट ही जोहते रह गए। उन्हें जब बाद में पता चला तो वे सभी हैरत में पड़ गए। उनकी सारी खुशियां काफूर हो गईं और सजा-सजाया विवाह का मंडप सूना पड़ गया।

आसपुर देवसरा थाना क्षेत्र के एक गांव के व्यक्ति की बेटी की शादी सुल्तानपुर जनपद के करौंदी कला थानांतर्गत कटघर पूरे निवासी बाबूराम के बेटे विनोद कुमार के साथ तय हुई थी। शादी के लिए 28 नवंबर की तिथि निश्चित की गई थी। लड़की के घर पर खुशियों का माहौल था। नाते रिश्तेदार घर पर आ चुके थे। पंडाल में बच्चे चहलकदमी कर रहे थे। रसोइया खाना बनाने में मशगूल था। समय जब धीरे-धीरे बढ़ने लगा, लेकिन बरात नहीं पहुंची तो लड़की पक्ष के लोगों को चिता हुई। जानकारी करने पर पता चला कि मुंबई से आई एक युवती की शिकायत पर सुल्तानपुर पुलिस ने दूल्हे को हिरासत में ले लिया है। अपनी मां के साथ करौंदी थाने पहुंची महिला ने बताया कि मुंबई में वह विनोद के सामने वाले मकान में रहती थी। वहां एक वर्ष पूर्व दोनों की शादी हो चुकी है, लेकिन मुंबई से गांव आकर पति दूसरी शादी रचाने जा रहा था। उसकी दूसरी शादी करने की भनक लगते ही वह शादी का सारा सुबूत लेकर मुंबई से सीधे करौदी थाने पहुंच गई। इससे काफी देर तक वहां पंचायत होती रही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस