प्रतापगढ़ : समय से शुरू हुई मतदान प्रक्रिया में सोमवार को उस समय बाधा खड़ी हो गई, जब आधा दर्जन मतदान केंद्रों की वोटिंग मशीनें खराब हो गईं और उन्हें बदलने में समय लग गया। इस वजह से इन मतदान केंद्रों पर वोटिग का काम देर से शुरू हो पाया। वहीं कुछ मतदान केंद्रों पर बिजली आपूर्ति बाधित रही और मतदाताओं को अंधेरे में मतदान करना पड़ा। हालांकि मोबाइल और टार्च का सहारा लेकर भी काम चलाने की कोशिश की गई।

सदर विधानसभा उप चुनाव के लिए सोमवार की सुबह सात बजे से मतदान शुरू कराया जाना था। शहर के प्राथमिक विद्यालय पूरे पितई करनपुर में बूथ नंबर 40 पर वीवीपैट मशीन खराब हो गई। पहले तो उसे ठीक कराने का प्रयास किया गया। जब वह ठीक नहीं हुई तो वीवीपैट बदलकर लगभग 20 मिनट बाद मतदान शुरू कराया गया। इसी प्रकार साल्हीपुर कंजास के एक बूथ पर ईवीएम खराब थी। यहां दो घंटे बाद मशीन बदलकर मतदान शुरू कराया जा सका, ऐसे में मतदानकर्मियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। इसी क्रम में चकमझानीपुर बूथ पर दस मिनट तक वोटिग के बाद मशीन खराब हो गई। आधे घंटे बाद मशीन बदल कर वोटिग शुरू कराई गई। कटरोदनीगंज प्रतिनिधि के अनुसार कटरामेदनीगंज बूथ पर मशीन खराब होने से मतदान करने आए कई लोग वापस लौट गए। यहां सीडीओ धीरेंद्र प्रताप सिंह ने पहुंचकर मशीन बदलवाकर मतदान शुरू करवाया। गड़वारा प्रतिनिधि के अनुसार भदौसी के बूथ संख्या 242 की इवीएम खराब होने से यहां साढ़े आठ बजे तक मतदान बाधित रहा। डीपीआरओ लालजी दुबे दूसरी मशीन लेकर पहुंचे तब मतदान शुरू हो सका। दिन में लगभग चार बजे परसरामपुर बूथ पर ईवीएम खराब होने से मतदान बाधित हुआ। यहां शाम साढ़े चार बजे तक मतदान नहीं हो सका और मतदाताओं को इससे काफी परेशानी हुई। सूचना पर पहुंचे अधिकारियों ने ईवीएम बदल कर मतदान शुरू कराया। वहीं कटरा मेदनीगंज के प्राइमरी स्कूल में बने बूथ पर सोमवार की सुबह अंधेरा होने के कारण टार्च की रोशनी में मतदान कराया गया। इसी तरह कई और स्थानों पर भी इस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप