संसू, कुंडा, प्रतापगढ़: जिले में ठंड से मंगलवार को एक मासूम समेत तीन लोगों की मौत हो गई। अब तक कड़ाके की ठंड से मरने वालों की संख्या सोलह पहुंच गई है।

जिले के महेशगंज थाना क्षेत्र के रायपुर असकरनपुर आजाद नगर निवासी महेश पांडेय के तीन माह की बेटी रुद्राक्षी को सोमवार की रात ठंड लग गई। उसकी मंगलवार की सुबह तबीयत ज्यादा खराब हो गई। उसे स्थानीय चिकित्सक के पास ले जाया गया, वहां आराम ना मिलने पर सीएचसी कुंडा रेफर कर दिया गया। वहां पर सीएचसी के चिकित्सकों ने जांच के बाद रुद्राक्षी को मृत घोषित कर दिया। इससे परिवार वाले बिलख-बिलख कर रोने लगे और मां अर्चना पांडेय बोहेश हो गईं। रुद्राक्षी के मामा राजन मिश्रा ने बताया कि भांजी की मौत ठंड लगने से हुई है। इसी प्रकार थाना क्षेत्र के सुखाई का पुरवा वजीरपुर गांव निवासी हरिलाल सरोज उर्फ चट्टान (45) पुत्र गोलरे मंगलवार की भोर मछली मारने के लिए बकुलाही नदी गया था। वहां उसे ठंड लग गई। सर्दी से बचने के लिए हरिलाल ने आग जलायी। आसपास लकड़ी न मिली तो अपने कपड़े उतारकर आग के हवाले कर दिया। इसके बावजूद उसकी मौत हो गई। सुबह जब कुछ ग्रामीण नदी की तरफ गए तो देखा कि हरिलाल सरोज मृत पड़ा था। उसके बगल में आग जल रही थी और उसमें उसके कपड़े अधजली अवस्था में पड़े थे। इसकी सूचना मिलते ही परिवार वाले रोने बिलखने लगे। वहीं संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के मीरापुर गांव निवासी केदारनाथ यादव (70) पुत्र स्वर्गीय गजाधर को सोमवार की रात ठंड लग गई। इसके बाद परिवार वाले उन्हें देर रात सीएससी कुंडा लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने केदारनाथ को मृत घोषित कर दिया। पूरे परिवार में कोहराम मच गया। केदारनाथ के दामाद अजय कुमार ने बताया कि ठंड लगने से मौत हुई है। केदारनाथ के दो बेटे और एक बेटी है। इस बार कड़ाके की ठंड के कारण अब तक जिले में सोलह लोगों की जान जा चुकी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस