रानीगंज : नौकरी दिलाने का झांसा देकर तीन युवकों से लाखों रुपये हड़पने के मामले में नामजद दो आरोपित ठगों को जेल भेज दिया गया। दोनों आरोपित ठग बलिया जिले के रहने वाले हैं। रानीगंज थाना क्षेत्र के अमहटा गांव निवासी जीतलाल पटेल ने पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया था कि उसके बेटे संदीप कुमार, जेठवारा थाना क्षेत्र के कानूपुर गांव निवासी अशोक कुमार और जौनपुर जिले के बादशाहपुर थाना क्षेत्र के गद्दोपुर गांव निवासी संतराम बिद से साल भर पहले रेलवे में टीटीई की नौकरी दिलाने के लिए शैलेंद्र राजभर पुत्र भरत राजभर,व पप्पू कुमार पुत्र बाली राम निवासीगण पकड़ी छितुपाली जिला बलिया ने 18लाख 90 हजार रुपये लिए थे। कुछ दिनों पहले उन्हें फर्जी नियुक्ति पत्र दिया था। ज्वाइन कराने की बात कहने पर दोनों ठग लाकडाउन का बहाना बनाकर आना-कानी कर रहे थे। इस बीच नौकरी के लिए एक और युवक से पैसा दिलाने की बात कहकर संदीप आदि ने गुरुवार को दोपहर जामताली बाजार में बुला लिया था। फिर संदीप उन्हें अमहटा अपने घर ले गया और दोनों को कमरे में बंद कर दिया। आरोप है कि दोनों ठगों को बंधक बनाकर मारा-पीटा गया था। सूचना पर शनिवार को पहुंची पुलिस दोनों आरोपित ठगों और संदीप, संतराम को पकड़कर थाने ले आई थी। पुलिस ने जीतलाल की तहरीर पर शैलेंद्र व पप्पू के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस ने दोनों आरोपितों को रविवार को जेल भेज दिया। एसओ पवन त्रिवेदी का कहना है कि नौकरी दिलाने का झांसा देकर पैसा हड़पने के मामले में शैलेंद्र राजभर व पप्पू कुमार को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।

Edited By: Jagran