प्रतापगढ़ : सांगीपुर थाना क्षेत्र के घुइसरनाथधाम में मंगलवार सुबह एक अधेड़ यूकेलिप्टस के पेड़ पर चढ़कर हंगामा करने लगा। यह देख लालगंज-घुइसरनाथ मार्ग पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। करीब 10 घंटे बाद शाम को पुलिस उसे नीचे उतरवाने में कामयाब हुई और पकड़ कर थाने ले गई।

उदयपुर थाना क्षेत्र के मनौती गांव निवासी मातादीन वर्मा उर्फ मतई (42) पुत्र रामसेवक वर्मा मंगलवार को सुबह करीब साढ़े सात बजे लालगंज-अठेहा मार्ग स्थित पेड़ पर चढ़ गया। वह जय जय हर हर बोलता पेड़ से कूद जाने की धमकी देने लगा। जानकारी होते ही वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई। हर कोई उसे मनाने में लग गया, लेकिन वह चाकू से खुद को घायल करने की धमकी भी देने लगा। सुबह का समय होने से स्कूली वाहन भी काफी देर तक भीड़ केचलते जाम में फंस रहे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने भीड़ हटाकर आवागमन बहाल कराया। इसके बाद पुलिस भी अधेड़ को मनाने में जुट गई, लेकिन वह पेड़ से न उतरने व जान दे देने की धमकी देता रहा। आखिरकार दोपहर में उसने पेड़ से एक कागज नीचे गिराया, जिसमें गांव के रामदास विश्वकर्मा से उसके जमीन के विवाद के मामले का समझौता लिखा था। अधेड़ ने कहा कि रामदास व उसकी बहू को बुलाओ, जमीन के विवाद में माफी मांगें। पुलिस ने रामदास को बुलाया व उसने माफी मांगी। अधेड़ फिर रामदास की बहू को बुलाने व माफी मांगने की जिद करने लगा साथ ही रामदास बाबा धाम में एक लाख रुपए जमा करने व कभी विवाद न करने का समझौता पत्र देने की बात करने लगा। वह बार-बार पेड़ की डाल हिला कर कूदने की धमकी भी देता रहा। इस दौरान सुरक्षा को लेकर सांगीपुर से अग्निशमन कर्मी भी मौजूद रहे। आखिरकार किसी तरह शाम करीब साढ़े पांच बजे पुलिस उसे नीचे उतरवाने में कामयाब रही और उसे पकड़ कर थाने ले गई। अधेड़ के पेड़ से उतरने के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली। एसओ वीरेंद्र कुमार का कहना है कि अधेड़ ने तीसरी बार पेड़ पर चढ़कर जान देने का नाटक किया है। इस बार उसके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप