सांगीपुर। कांग्रेस नेता व ब्लाक प्रमुख सांगीपुर अशोक सिंह बबलू ने सांसद संगम लाल गुप्ता समेत चार नामजद और उनके समर्थकों पर हमले का आरोप लगाते हुए शनिवार की रात तहरीर दी थी। वहीं पुलिस ने अभी तक मामले में आरोपितों के खिलाफ कोई मुकदमा नहीं दर्ज किया है। इससे कांग्रेसियों में आक्रोश बना हुआ है। लोग पुलिस प्रशासन पर एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगा रहे हैं। ब्लॉक प्रमुख अशोक सिंह बबलू ने दी गई तहरीर में आरोप लगाया है कि ब्लाक में आयोजित मेले का पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी शुभारंभ कर चुके थे। सरकारी अधिकारी कार्य योजनाओं की जानकारी दे रहे थे। इसी बीच संगम लाल गुप्ता समर्थकों के साथ पहुंचे। उनके समर्थकों ने नारेबाजी करते हुए संचालक से जबरन माइक छीन लिया। सांसद के साथ मंच पर चढकर ओम प्रकाश पांडेय, अभिषेक मिश्र, अभिषेक पांडेय, विवेक उपाध्याय सहित अन्य लोग उत्तेजक नारे लगाने लगे। कुछ महिला पंचायत प्रतिनिधियों के साथ बदसलूकी व कई महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की। गाली गलौज करते रहे ब्लॉक की सरकारी कुर्सियां को क्षतिग्रस्त कर दिया। भाजपा नेता ओमप्रकाश गुड्डू ने जान से मारने की नियत से रिवाल्वर से फायर भी किया। मामले में पुलिस द्वारा अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की। सीएम से मिले सांसद संगम, मिला भरोसा : भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता रविवार की रात सीएम योगी आदित्य नाथ से लखनऊ में मिले। उन्हें शनिवार को सांगीपुर ब्लाक में हुई घटना के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने सीएम से कहा कि कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी विरोधी दलों के लोगों को दबंगई का शिकार बनाते आ रहे हैं। उन्होंने दोषियों पर लापरवाही बरतने वाले सीओ लालगंज के निलंबन पर सीएम से आभार जताया। सीएम ने सांसद को पूर्ण सुरक्षा और सम्मान बरकरार रखने का भरोसा दिया।

Edited By: Jagran