संसू, प्रतापगढ़ : मां बेल्हा देवी मंदिर के पास सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण कार्य एसडीएम ने शनिवार को जमीन की नापजोख कराकर शुरू करा दिया।

जिले की आदिगंगा कही जाने वाली सई नदी का जल इस समय प्रदूषित हो गया है। शहर के नालों का गंदा पानी नदी में गिरता है। नदी को प्रदूषण से मुक्त करने के लिए शहर में सीवर लाइन बिछाने का काम वर्ष 2012 में शुरू हुआ था। इसके पहले वर्ष 2011 में सई नदी के किनारे सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनकर तैयार हो गया था। लेकिन निर्माण कार्य में मानक की अनदेखी के कारण सीवर लाइन बिछाने का काम अधर में लटका है।

इस बीच करीब महीने भर पहले सांसद संगमलाल गुप्ता ने लोकसभा में सई नदी के प्रदूषण का मामला उठाया था। साथ ही नाले के पानी को साफ करने के लिए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने को पैक्सफेड के प्रबंध निदेशक को पत्र लिखा था। इस पर पैक्सफेड के प्रबंध निदेशक ने टेलीमैक्स हाईटेक लिमिटेड को डिमांसट्रेशन प्रोजेक्ट लगाने का काम सौंपा था।

करीब महीने भर पहले टेलीमैक्स कंपनी ने डिमांसट्रेशन प्रोजेक्ट लगाने के लिए नदी के किनारे निर्माण कार्य शुरू करा दिया था। इसकी जानकारी होने पर 27 दिसंबर को पंडित आलोक मिश्र और पूर्व शांती सिंह ने जमीन की पैमाइश कराए बिना निर्माण कार्य को रोकवा दिया था। इस बीच एसडीएम सदर मोहनलाल गुप्ता शनिवार को दोपहर करीब एक बजे सीओ सिटी अभय पांडेय, तहसीलदार मनीष सिंह के साथ मौके पर गए और जमीन की नाप जोख कराकर सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण कार्य फिर शुरू करा दिया। एसडीएम का कहना था कि नापजोख में जमीन नदी की निकली। इसलिए सीवेट ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण कार्य शुरू करा दिया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस