पट्टी, प्रतापगढ़ : तीन दिवसीय ऐतिहासिक दशहरा मेले के अंतिम दिन राम-भरत मिलाप मंत्रोच्चार के बीच सोमवार को संपन्न हुआ। चौक में जब भगवान राम व लक्ष्मण से भरत व शत्रुघ्न गले मिले तो अयोध्या जैसा नजारा दिखाई पड़ा। इस दृश्य को देख मौजूद लोग भावुक हो उठे, उनके आंखों से आंसुओं की धार बह निकली। अगले ही पल उन्होंने अपने को संभाला और खुशी जताते हुए चारों भाइयों पर पुष्पों की वर्षा की। इस दौरान पूरा क्षेत्र भगवान राम के जयकारे से गूंज उठा। बैंड ने ओम जय जगदीश हरे.की धुन बजा कर माहौल को भक्तिमय बना दिया।

शुक्रवार से शुरू हुए पट्टी के दशहरा मेले के भरत मिलाप को लेकर रविवार की देर रात से ही कलात्मक चौकियों पर कलाकारों द्वारा जगह-जगह प्रदर्शन किया गया। यह क्रम रात 11 बजे शुरू होने के बाद सुबह राम-भरत मिलाप की समाप्ति तक चलता रहा। पूरी रात भ्रमण के बाद सभी दल व मंडल की चौकियां सात बजे तक मुख्य मार्ग पर बने राम-भरत मिलाप स्थल पर पहुंचीं। जहां पर पुरोहित श्याम शंकर दूबे ने मंत्रोच्चार के बीच पूजन शुरू करवाया। कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह, ब्लाक प्रमुख पट्टी राकेश कुमार सिंह पप्पू, नगर पंचायत अध्यक्ष खेदन लाल जायसवाल, एसडीएम डीपी सिंह, सीओ नवनीत कुमार नायक, तहसीलदार विनोद कुमार गुप्त, नायब तहसीलदार राजकपूर तथा कोतवाल नागेंद्र सिंह, आरएसएस के खंड विस्तारक राजवर्धन, एसडीओ एसवी प्रसाद सहित मंच पर मौजूद लोगों ने भगवान राम, मां सीता के साथ चारों भाइयों तथा हनुमान जी के साथ पूरे राम दरबार की आरती उतारी।

मंत्री मोती सिंह ने कहा कि राम भरत का भातृत्व प्रेम आज भी हमें भाईचारे का संदेश देता है। हिदू-मुस्लिम के आपसी सहयोग से संपन्न होने वाला पट्टी का मेला देश के लिए समरसता का एक उदाहरण है। एसडीएम डीपी सिंह व सीओ नवनीत कुमार नायक ने कहा कि ऐसे आयोजन से समाजिक भाईचारे की डोर मजबूत होती है।

कार्यक्रम का संचालन सह प्रबंधक राम चरित्र वर्मा ने किया। समिति के अध्यक्ष जुग्गी लाल जायसवाल व प्रबंधक सुरेश कुमार जायसवाल ने सभी के प्रति आभार जताया। इस मौके पर अखिल भारतीय व्यापार मंडल के अध्यक्ष कमलापति जायसवाल, रमेश सोनी, रामप्रकाश जायसवाल, रामचंद्र जायसवाल, लालचंद्र मोदनवाल, अनिल कुमार श्रीवास्तव, पवन कुमार खंडेलवाल, डा. केएल विश्वकर्मा अवधेश सिंह, पंकज खंडेलवाल, ईओ मनोज प्रियदर्शी, पवन सिंह, पंकज सिंह राजू सहित श्री रामलीला समिति के पदाधिकारी व सदस्य मौजूद रहे।

--

झांकियों का संदेश, सबसे प्यारा अपना देश : एक तरफ जिदगी की भागमभाग और समय की उपयोगिता का ख्याल न रखने वालों पर भरत मिलाप में शामिल राम दल की चौकी के कलाकारों ने प्रदर्शन के माध्यम से तंज कसा। इस कार्यक्रम में भगवान श्री कृष्ण ने लोगों को समय के महत्व को समझाया जिसे भरपूर सराहना मिली।

भरत मिलाप स्थल पर रामदल की चौकी द्वारा समय की उपयोगिता को लेकर बेहतरीन प्रदर्शन ने एक अलग ही छाप छोड़ी। यहां पर बताया गया कि जिसने समय को पहचान लिया, वह आगे निकल गया। काबीना मंत्री ने भी अपने संबोधन में समय की महत्ता पर चर्चा की। कृष्णा दल में काली नृत्य एवं हनुमान दल में माखन चोरी के साथ ही हनुमान नृत्य लोगों को भाया। जय संतोषी मां मंडल में भगवान राम एवं हनुमान प्रेम के गीत पर प्रसंग को खूब सराहा गया। शिवदल में नंदी बैल के साथ शिव बारात निकली। भरत दल की चौकी में कलाकारों ने देश प्रेम का संदेश दिया। यहां राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा भी बीच-बीच में फहराया जाता रहा। राम दल के अध्यक्ष मुन्नालाल, भरत दल के कमलापति, हनुमान दल के अमित जायसवाल, कृष्णा दल के रमेश सिंह, संतोषी मां दल के अनिल सिंह व शिवदल के अध्यक्ष अजय मोदनवाल कलाकारों का उत्साह वर्धन करते रहे।

-

सम्मान पाकर तन गया सीना : श्रीरामलीला समिति द्वारा भरत मिलाप मंच से सबका आभार जताया गया। मुख्य अतिथि ग्राम्य विकास मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह सहित अन्य सहयोगियों को स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित भी किया। समिति अध्यक्ष जुग्गीलाल जायसवाल ने मंत्री मोती सिंह, प्रमुख पट्टी राकेश कुमार सिंह पप्पू को सम्मानित किया। एसडीएम डीपी सिंह, सीओ नवनीत नायक, नगर पंचायत अध्यक्ष खेदन लाल जायसवाल, तहसीलदार विनोद कुमार गुप्ता सहित दर्जनों लोगों को मेला आयोजन समिति की ओर से सम्मानित किया गया। कमेटी के सदस्य सजीवन सोनी को एसडीएम, व शीतला प्रसाद सरोज के साथ प्रबंध समिति के सदस्य रवि कुमार, आकाश पटेल, जावेद अख्तर इदरीसी, आशीष तिवारी को मंत्री मोती सिंह ने सम्मानित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस