जागरण संवाददाता, प्रतापगढ़ : प्रयागराज-अयोध्या हाईवे पर स्थित कुसमी रेलवे क्रासिंग का फाटक बुधवार को ट्रैक दुरुस्तीकरण के लिए अचानक बंद कर दिया गया। रेलवे की इस लापरवाही के चलते पूरे दिन सैकड़ों वाहन फंसे रहे। इसके चलते राहगीरों को खासी परेशानी उठानी पड़ी।

रेलवे को फाटक के पास का ट्रैक दुरुस्त करना था। उसके दोनों ओर मिट्टी भर गई थी। उसे खोदकर साफ करना था। इसकी सूचना सार्वजनिक नहीं की गई। वही हुआ, जिसका अंदेशा था। दिन में 11 बजे कुसमी क्रासिंग का दोनों फाटक बंद देख दंग रह गए। कुछ ही देर में दोनों तरफ वाहन रुकने लगे। वाहनों की कतार लगने लगी। इसके बाद भुपियामऊ चौकी की पुलिस ने चौराहे पर खड़े होकर वाहनों को कटरा की ओर मोड़ना शुरू किया, लेकिन तब तक सैकड़ों वाहन फंस चुके थे। उसमें सवार लोग परेशान हो गए। इधर भंगवा चुंगी पर भी पुलिस ने वाहनों को कुसमी की ओर जाने से रोकना शुरू कर दिया, जिससे कटरा रोड पर वाहनों का दबाव बढ़ गया। ट्रैक पर शाम पांच बजे के बाद तक काम चलता रहा। पूरे दिन लोग परेशान रहे। देर शाम फाटक खुला तो राहत मिली। इस बारे में रेलवे विभाग के पीडब्ल्यूआइ एमपी पांडेय का कहना है कि ट्रैक पर काम कराने की सूचना पांच दिन पहले प्रशासन को दे दी गई थी। हालांकि इसकी जानकारी मीडिया में न दे पाने से आम लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ी।

--

अस्पताल जाने वालों की अटकी सांसें

संसू, राजगढ़ : रेलवे की मनमानी से कई लोगों की जिदगी खतरे में पड़ गई। कई एंबुलेंस शुरुआत में फंस गई। उनके चालकों को यह पता ही नहीं था कि प्रयागराज मार्ग बाधित रहेगा। उनको कटरा से घुमाया गया। शहर के व्यस्त मार्ग से पास होने में उनको काफी समय लग गया, जिससे उसमें रखे गए मरीजों की सांसें अटकी रहीं। इसके अलावा कोर्ट कचहरी जैसे जरूरी कार्य से जा रहे लोग भी फंसे रहे। बाइक वाले कई लोग तो फाटक के बगल से बाइक को उठाकर ट्रैक पार कराते दिखे। इस प्रयास में कई लोग चोटिल भी हो गए। बरसात का मौसम होने से लोगों को सड़क पर कहीं शरण लेने की भी जगह नहीं मिल रही थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस