संसू, प्रतापगढ़ : ट्रेन की चपेट में आने से पॉलीटेक्निक के छात्र की मौत हो गई। काफी देर तक जब वह घर नहीं लौटा तो रिश्तेदार उसकी तलाश में रेलवे लाइन के किनारे पहुंचे। देखा तो उसका शव ट्रैक पर क्षत-विक्षत पड़ा था। जानकारी होने पर लोगों को काफी भीड़ जुट गई। सूचना पर पहुंची जीआरपी शव को लेकर थाने आई। इसके बाद उसका शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। घटना से परिजन रो-रोकर बेहाल हैं।

प्रयागराज जिले के मेजा क्षेत्र के राम नगर गांव का रहने वाला प्रशांत कुमार सिंह (19) पुत्र जय शंकर राजकीय पॉलीटेक्निक चिलबिला का द्वितीय सेमेस्टर का छात्र था। वह अमेठी जिले के पूरे जगबंधनपुर तारापुर थाना संग्रामपुर में अपने फूफा लालजी के घर शुक्रवार की शाम गया था। वह कान में लीड लगाकर रेलवे लाइन पर बैठकर मोबाइल पर बात कर रहा था। रात करीब 11 बजे ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना पर एसओ जीआरपी फूल सिंह मौके पर पहुंचे और घटना की जांच की। जीआरपी एसआइ मनोज सिंह राणा ने शनिवार की सुबह लिखापढ़ी कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसओ जीआरपी फूल सिंह ने बताया कि छात्र कान में लीड लगाकर रेलवे लाइन पर बैठकर मोबाइल से बात कर रहा था। इस दौरान किसी ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। मौके पर उसका मोबाइल नहीं मिला। युवक रात में किससे बात कर रहा था। इसकी जांच की जा रही है। मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाया जाएगा।

---

मोबाइल की तलाश में जीआरपी

छात्र की मौत के बाद उसके मोबाइल का कुछ पता नहीं चला। आसपास घास की झाड़ अधिक होने से मोबाइल नहीं मिला। हालांकि जीआरपी युवक के मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगाने की तैयारी में है। इसके पीछे जीआरपी का मकसद यह है कि छात्र रात में किससे बात कर रहा था। हालांकि इस प्रकरण में मृतक के परिजनों ने कोई तहरीर नहीं दी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप