प्रतापगढ़ : गांव व बाजारों में अपनी धमक जमाने वालों के लिए पुलिस ने सी प्लान का खाका तैयार किया है। इसके जरिए अब लोगों को पता भी नहीं चलेगा और उनके बारे में सभी प्रकार की जानकारी पुलिस के पास होगी। इस प्लान के जरिए अब पुलिस हर गांव से दस से 15 लोगों को सी प्लान का सदस्य बना रही है। इनसे एसपी से लेकर एसओ तक के अधिकारी कभी भी कहीं से बात कर सकते हैं।

प्रदेश में बढ़ते अपराध पर लगाम लगाने के लिए उप्र पुलिस द्वारा एक एप बनाया गया है, जो मात्र पुलिस के पास होगा। इस एप का नाम सी प्लान है। सी प्लान का मतलब कम्युनिकेशन प्लान। इसका संचालन मात्र पुलिस विभाग के लोग करेंगे। इस प्लान के जरिए जनपद के सभी गांवों से दस से 15 लोगों को जोड़ा जाएगा। सी प्लान से जुड़ने वाले व्यक्ति का गांव, मोबाइल नंबर, पता सब कुछ प्लान से जुड़ा रहेगा। इस प्लान से जुड़ने वाले व्यक्ति से एसपी, अपर पुलिस अधीक्षक, सीओ, एसओ को प्रतिदिन बात करनी होगी और गांव के बारे में होने वाली गतिविधियों के बारे में जानकारी लेंगे। इसमें सीओ को सर्किल के थाना क्षेत्रों से हर गांवों से दो-दो लोगों से, एसओ को अपने-अपने थाना क्षेत्रों के चार-चार गांवों के लोगों से, जबकि एसपी व अपर पुलिस अधीक्षक जनपद के किसी भी गांव के किसी भी व्यक्ति से बातचीत कर उनके गांव के हालात के बारे में जानकारी ले सकते हैं। ऐसे में अपराध करने वालों का खाका पुलिस एक कॉल कर जुटा सकती है। सबसे बड़ी बात है कि सी प्लान से गांव का कौन-कौन सा व्यक्ति जुड़ा है इसकी जानकारी गांव के दूसरे व्यक्ति को नहीं हो सकेगी। इस बात की जानकारी पुलिस के आलाधिकारियोंके साथ संबंधित थाने के एसओ व दरोगा को ही होगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस