प्रतापगढ़ : शहर में चौक के पास डेढ़ महीने पहले किराना व्यापारी से हुई लूट में अभी तक बदमाशों का सुराग नहीं लग सका है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज में दिखे हुलिए के आधार पर बदमाशों को चिह्नित करने में जुटी है।

शहर में चौक घंटाघर के पास इकबाल अहमद की किराना की दुकान है। वह 29 सितंबर को रात लगभग साढ़े आठ बजे ग्राहकों को सामान दे रहे थे। तभी दो नकाबपोश बदमाश पहुंचे और दुकान में घुसकर उन्हें तमंचा सटाकर 15 हजार रुपये लूट ले गए थे। बदमाश बाइक से जेल रोड की ओर भागे थे। बीच शहर में बदमाशों ने घटना को अंजाम देकर पुलिस को चुनौती दी थी। जिस समय घटना हुई थी, उस समय शहर में राम बरात निकली थी। मकंद्रूगंज चौकी पुलिस के साथ कोतवाली पुलिस राम बरात को संपन्न कराने में जुटी थी।

बीच शहर में लूट की घटना की सूचना मिलते ही एएसपी पूर्वी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे थे। बदमाशों की तलाश में कोतवाली और कंधई पुलिस ने घेरेबंदी करके वाहनों की चेकिग शुरू करा दी थी। हालांकि पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली थी। बदमाशों का सुराग लगाने के लिए पुलिस ने आस-पास की दुकानों में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगाला था। एक दुकान की फुटेज में दो बाइक सवार जेल रोड की ओर जाते दिखे थे। हांलाकि चेहरा स्पष्ट नहीं दिखा था। पुलिस ने हुलिए के आधार पर बदमाशों का सुराग लगाने का प्रयास किया। दो-चार संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी किया, लेकिन आज तक बदमाशों का सुराग नहीं लग सका। इस बारे में कोतवाल सुरेंद्रनाथ का कहना है कि हुलिए के आधार पर बदमाशों का सुराग लगाया जा रहा है। अभी तक सफलता नहीं मिल सकी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस