संसू, प्रतापगढ़ : मनरेगा लोकपाल के अचानक गांव में विकास कार्यो के निरीक्षण करने की सूचना पर पंचायत सचिव वहां से भाग निकला। अफसरों को जांच में इंटरलाकिग, खडंजा समेत कार्यो में अव्यवस्था मिली।

प्रयागराज मंडल के मनरेगा लोकपाल ओपी सिंह ने बुधवार को संडवा चंद्रिका ब्लाक की ग्राम पंचायत जलालपुर का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान देखा कि गांव में बनाई गई इंटरलाकिग सड़क जर्जर हालत में मिली। ईट उखड़ गई थी। कुछ ऐसा ही हाल खडंजा का भी रहा। देखने से यह लग रहा था। इस पर लोगों का कोई आवागमन नहीं है। उन्होंने प्रधान को चेतावनी देते हुए कहा कि इसकी सफाई कराने का कहा। विकास कार्यो का बोर्ड अपठनीय था। उसे भी दुरुस्त कराने को कहा। हालांकि टीम ने इन कार्यो के निर्माण में व्यापक गड़बड़ी की आशंका जाहिर की है। इसके बाद जैसे ही टीम ग्राम पंचायत दांदूपुर दौलत पहुंची। इसकी भनक लगते ही पंचायत सचिव चिरंजीव पटेल वहां से भाग निकला। विकास कार्यो का दस्तावेज न मिलने से टीम बिना जांच किए गांव से वापस आ गई। हालांकि टीम के आने की सूचना पर प्रधान व पंचायत अफसरों में खलबली मची रही।

जांच में काफी खामियां मिली हैं। साइन बोर्ड अपठनीय मिला। इंटरलाकिग के ऊपर घासे उगी हुई है। प्रधान को चेतावनी दी गई है। आगे के निरीक्षण में अगर इस तरह की खामियां मिली तो कार्रवाई तय है।

-ओपी सिंह, मनरेगा लोकपाल।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस