प्रतापगढ़ : एमडी पीजी कॉलेज के जोगापुर परिसर के गेट पर आए दिन कॉलेज के लड़कों तथा उनके साथ आने वाले अराजक तत्वों का डेरा जमा रहता है, जिससे आसपास के लोग तथा वाणिज्य संकाय में पढ़ने वाली छात्राएं भी परेशान हैं। आसपास के लोगों की माने तो गेट के सामने का रास्ता सकरा है, जहां कुछ बाहरी मनचले लड़के अपनी बाइक खड़ी कर आने जाने वालों से अभद्रता किया करते हैं । गेट के बाहर रोड पर भी मनचले लड़के महाविद्यालय की छात्राओं तथा उधर से गुजरने वाली महिलाओं से अभद्रता करते हैं। कॉलेज के गेट पर कोई चौकीदार नियुक्त नहीं किया गया है, जिससे सड़क से लेकर कॉलेज परिसर के अंदर तक कुछ उपद्रवी छात्रों तथा बाहरी लड़कों का मनमानापन चलता रहता है। महाविद्यालय में प्रत्येक कक्षा बीकॉम भाग एक, भाग दो एवं भाग तीन में लगभग दो-दो सौ विद्यार्थी प्रवेशित हैं। ऐसे में प्रत्येक कक्षा के कम से कम दो सेक्शन चलने चाहिए, कितु शिक्षकों और कमरों की कमी के कारण केवल एक सेक्शन ही चलता है, जिसमें अधिकतम 90 अथवा 100 बच्चे ही बैठ सकते हैं। प्रत्येक कक्षा के शेष बच्चे परिसर से सड़क तक अराजकता फैलाते रहते हैं। इस संबंध में पूछे जाने पर महाविद्यालय के जन सूचना अधिकारी डॉ. सीएन पांडेय का कहना है कि परिसर में प्रतिदिन चेकिग की जा रही है। परिचय पत्र तथा फीस रसीद न पाए जाने पर छात्रों को बाहर किया जा रहा है। गेट पर बाहरी लड़कों को रोकने के लिए पुलिस की मदद ली जाएगी।

----------

एमकाम में कर लिया प्रवेश, पढ़ाने वाला कोई नहीं

संसू, प्रतापगढ़ : एमडीपीजी कॉलेज मे दो माह से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी अभी तक कक्षाएं नहीं चलाई जा सकी हैं। महाविद्यालय को इस वर्ष से एमकॉम के कक्षाओं के संचालन की मान्यता मिली है। एम कॉम की सभी 60 सीटें दो माह पूर्व ही भर जाने के बावजूद अभी तक कक्षाओं का संचालन नहीं हो सका है। विद्यार्थी पढ़ने के लिए प्रतिदिन आते हैं कितु शिक्षक न होने की बात कहकर उन्हें वापस कर दिया जाता है, जिससे उनकी पढ़ाई बाधित हो रही है। इसके लिए शिक्षकों के चार पद सृजित हैं, जबकि तैनाती एक की भी नहीं हैं। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. मनोज मिश्र ने बताया कि बीकाम के शिक्षक एमकाम में भी पढ़ा रहे हैं। फिलहाल शिक्षकों की व्यवस्था जल्द कराई जाएगी।

Edited By: Jagran