जासं, प्रतापगढ़ : प्रतापगढ़ जिले में शायद मुख्यमंत्री और आइजी पुलिस के आदेश भी मायने नहीं रखते। वर्ना सीएम और आइजी ने अपराध नियंत्रण के जो तौर तरीके पुलिस को बताए थे। उस पर अमल होता और अपराधों पर नियंत्रण भी होने लगता। सीएम ने साफ कहा था कि वे आंकड़ों में यकीन नहीं करते, फिर भी पुलिस थानों में अपराध दर्ज नहीं हो रहे हैं। फरियादियों को टरकाया जा रहा है। महिलाओं को अपने उत्पीड़न के खिलाफ कहां आवाज उठानी है, इसका प्रचार प्रसार भी नहीं हुआ। एक टेंपो पर सवार 11 लोगों की मौत के बाद जारी आइजी के आदेश का भी जिले में यही हाल हुआ। पुलिस ओवरलोड वाहनों पर कार्रवाई करने के लिए जाने क्यों राजी नहीं हैं और अफसर थानों पर बैठे लोगों को यह सब करने के लिए विवश नहीं कर पा रहे हैं। सीएम का फरमान

-एंटी रोमियो स्क्वायड को और सक्रिय करें।

-महिला उत्पीड़न रोकने को हेल्पलाइन का प्रचार-प्रसार करें।

-थाने पहुंचने वाले हर पीड़ित का मुकदमा दर्ज करें।

-थाने पर आने वाले हर व्यक्ति से सलीके से पेश आएं।

-चिह्नित बदमाशों पर यूपीकोका, गुंडा एक्ट की कार्रवाई करें।

-अपराध रोकने को कागजी नहीं, धरातल पर प्रयास करें।

---------

आइजी का आदेश

-अभियान चलाकर ओवरलोडेड वाहनों पर कार्रवाई करें।

-अपने मुखबिर तंत्र चौकीदारों को सक्रिय करें।

-गांव में होने वाले विवादों की जानकारी चौकीदारों से लें।

-चौकीदारों की सूचना को बीट सिपाही गांव में जाकर जांच करें।

-बीट निरीक्षकों से मिले प्रकरण को मौके पर थानेदार निस्तारित करें।

-संभावित विवादों पर बीट दारोगा निरोधात्मक कार्रवाई करें।

--------------------

केस-1-

छात्रा से छेड़छाड़ का नहीं दर्ज किया मुकदमा

अंतू थाना क्षेत्र की रहने वाली डीएलएड की एक छात्रा तीन मई को सरयूदेवी महाविद्यालय उड़ैयाडीह परीक्षा दे रही थी। आरोप है कि परीक्षा कक्ष में घुसकर कुछ युवकों ने उससे छेड़छाड़ किया। विरोध करने पर उसे व उसके सहपाठी छात्रों को मारा-पीटा गया। किसी तरह घर पहुंचकर सभी ने जान बचाई। पट्टी कोतवाली में मुकदमा नहीं दर्ज होने पर एसपी की गैर मौजूदगी में सीओ सदर से शिकायत की गई। सीओ के आदेश के बाद भी मुकदमा नहीं लिखा गया।

-----

केस-2-

अंतू और जीआरपी थाने का चक्कर लगा रही छात्रा

अंतू थाना क्षेत्र की एक छात्रा शहर में रिश्तेदार के घर मीराभवन में रहकर पढ़ाई कर रही थी। एक मनचला उसे अश्लील मैसेज भेज रहा था। इसकी शिकायत करने पर वह जान से मारने की धमकी देने लगा। डरी सहमी छात्रा ने स्कूल जाना बंद कर दिया। दो मई को छात्रा बड़ी बहन को अंतू स्टेशन पर ट्रेन पर बैठाने गई तो उस पर मनचले ने साथियों के साथ हमला कर दिया। शिकायत करने पर अंतू व रेलवे पुलिस ने एक दूसरे के क्षेत्र का मामला बताकर छात्रा को टरका दिया। छात्रा ने शिकायत एसपी से की है।

------

केस-3-

एसपी दफ्तर के पास हुई छिनैती नहीं हुई दर्ज

शहर के शिवजीपुरम निवासी राजकली पत्नी कमलेश कुमार 27 अप्रैल को शाम साढ़े चार बजे स्टेट बैंक से दो लाख रुपये लेकर ई-रिक्शा से घर जा रही थी। एसपी दफ्तर के पास बाइक सवार बदमाश उसका रुपयों से भरा बैग छीनकर राजापाल टंकी की ओर भाग निकले। बेटी की शादी की खरीदारी के लिए निकाला गया पैसा लुट जाने से राजकली बदहवास हो गई। कोतवाली पुलिस ने जांच के नाम पर एफआइआर लिखने से इन्कार कर दिया।

----

केस-4-

25 दिन से चक्कर काट रहा टैक्सी चालक

नगर कोतवाली क्षेत्र के घाटमपुर गांव निवासी उमेशचंद्र मिश्र मुंबई में टैक्सी चलाता है। इन दिनों वह घर आया है। 12 अप्रैल को रात लगभग आठ बजे वह बाइक से घर जा रहा था। रास्ते में औवार गांव के पास बदमाशों ने तमंचा सटाकर मोबाइल, बाइक लूट लिया था। अगले दिन उसने पृथ्वीगंज चौकी व कोतवाली में तहरीर दिया। मुकदमा दर्ज न होने पर सीओ सिटी, एसपी से शिकायत किया। वह तब से कोतवाली से लेकर पुलिस दफ्तर का चक्कर लगा रहा है, लेकिन मंगलवार को शाम तक उसका मुकदमा दर्ज नहीं हुआ था।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran