संसू, प्रतापगढ़ : केंद्र प्रभारियों के बाद अब मनमानी करने वाले राइस मिल संचालकों पर भी अफसरों का चाबुक चला है। ऐसे मिल संचालक जो क्रय केंद्रों से धान का उठान नहीं कर रहे हैं। अग्रिम लाट नहीं जमा कर रहे हैं। ऐसे दो दर्जन मिल संचालकों को डीएम के माध्यम से नोटिस जारी हुई है। कार्रवाई से संचालकों में खलबली मची है। इसमें कई संचालकों का एग्रीमेंट भी निरस्त हो सकता है।

जिले भर में करीब 50 क्रय केंद्रों पर धान की खरीद हो रही है। एक नवंबर से अभी तक करीब 22 सौ मीट्रिक टन धान की खरीद हुई है। दो हजार एमटी धान केंद्र पर डंप है। धान की कुटाई के लिए करीब 24 राइस मिल संचालकों से अनुबंध हुआ है। मिल संचालक धान का उठान नहीं कर रहे हैं। ऐसे संचालकों के विरुद्ध जिला प्रशासन ने सख्त रुख अपनाया है। कार्रवाई भी शुरू कर दी है। डिप्टी आरएमओ धनंजय सिंह ने बताया कि धान का उठान न करने वाले राइस मिल संचालकों के विरुद्ध नोटिस की कार्रवाई डीएम द्वारा की गई है। सुधार न होने पर अनुबंध भी निरस्त किया जा सकता है।

--

कम खरीद पर जिला प्रबंधक ने दी चेतावनी

पीसीएफ केंद्रों के प्रभारियों की लापरवाही रोकने के लिए बुधवार को जिला प्रबंधक पीसीएफ को मैदान में उतरना पड़ा। जिला प्रबंधक मोनिक सिंह अकेला ने पट्टी क्षेत्र के दर्जनभर क्रय केंद्रों का निरीक्षण किया। इसमें पीसीएफ केंद्र राजापुर, साड़ा हर्षपुर, बारौ, सराय देवराय, दाउदपुर, गौरामाफी समेत केंद्र का निरीक्षण किया। कम खरीद करने वाले राजापुर केंद्र के प्रभारी दुर्गेश शुक्ला, साड़ा हर्षपुर के प्रभारी विनय मिश्रा, मलावा छजईपुर के केंद्र प्रभारी संतोष पांडेय समेत को चेतावनी दी। क्रय केंद्रों पर धान का उठान न करने पर परिवहन ठेकेदार को चेतावनी देते हुए दो दिनों में एग्रीमेंट व सिक्योरिटी मनी उपलब्ध कराने को कहा। जिला प्रबंधक ने बताया कि मनमानी करने वाले केंद्र प्रभारी व मिल संचालकों के विरुद्ध कार्रवाई करने में कोई गुरेज नहीं किया जाएगा।

-----

किसानों को केंद्र तक लाने में झोंकी ताकत, नहीं बढ़ रही खरीद

संसू, लालगंज : क्रय केंद्रों पर धान खरीद की प्रगति धीमी है। क्रय केंद्रों पर बोरी, पानी किसानों के बैठने आदि की व्यवस्था बनाई गई है। खरीद बढ़ाने के लिए कर्मचारी किसानों को केंद्र तक लाने की कोशिश में जुटे होने का दावा कर रहे हैं, लेकिन पखवारे भर बाद भी क्रय केंद्रों तक किसानों के पहुंचने की प्रगति धीमी नजर आ रही है।

तहसील क्षेत्र में धान की खरीद करने के लिए कुल नौ क्रय केंद्र बनाए गए हैं। इसमें विपणन के चार, साधन सहकारी समिति के चार और यूपी एग्रो के एक केंद्र शामिल हैं। ब्लाक लालगंज व संग्रामगढ़ में एक-एक, लक्ष्मणपुर में दो व सांगीपुर में पांच क्रय केंद्र बनाए गए हैं। लक्ष्य 12हजार सात सौ एमटी रखा गया है। पखवारे भर बीत जाने के बाद अभी तक क्षेत्र के सुधाकर मिश्र, बाबूलाल जायसवाल, बृजेंद्र प्रताप सिंह, वीरेंद्र बहादुर सिंह, सुरेंद्र प्रताप सिंह, रमा शंकर शुक्ल, शिव बहादुर सिंह समेत 11 किसानों से कुल 584 कुंतल धान की खरीद ही हो सकी है। वहीं लक्ष्मणपुर ब्लाक के क्रय केंद्र लक्ष्मणपुर में 29 किसानों से 1060 व छेमरसरैंया में 204 कुंतल की खरीद हुई। सांगीपुर के क्रय केंद्र शाहबरी में 40 किसानों से 1995 कुंतल, सांगीपुर केंद्र पर 32 किसानों से 2 हजार कुंतल, दलापट्टी में 25 किसान से 16 सौ कुंतल, बसुआपुर में 26 किसानों से 1040 कुंतल धान की खरीद हुई है।

---

केंद्रों पर धान खरीद रफ्तार पकड़ रही है। निर्धारित समय में लक्ष्य को पूरा करा लिया जाएगा। केंद्रों पर किसानों को किसी प्रकार की समस्या न हो, इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। केंद्र प्रभारियों को केंद्र पर मौजूद रहने व समय से निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं।

- संजय सिंह, विपणन प्रभारी लालगंज

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस