जागरण संवाददाता, प्रतापगढ़ : लॉकडाउन- 4 के समाप्त होने के साथ ही देश में करीब 200 यात्री ट्रेन का संचालन एक जून से शुरू हो रहा है। इसका कोई फायदा प्रतापगढ़ के यात्रियों को सीधे तौर पर नहीं मिलेगा। इधर से कोई भी ट्रेन पास नहीं होगी।

रेल संचालन लॉकडाउन की शुरुआत से ही बंद है। कोरोना वायरस का फैलाव रोकने के लिए सरकार ने पूरे देश में इसे बंद कर रखा था। अब स्थिति नियंत्रण में होने पर संचालन फिर पटरी पर लाने की तैयारी है। एक जून यानि मंगलवार से ट्रेनों को चलाए जाने की घोषणा हुई है। इस बीच पता चला है कि स्पेशल ट्रेन प्रयागराज तो आएंगी, लेकिन प्रतापगढ़ जंक्शन पर नहीं आएंगी। कोई भी ट्रेन इधर से नहीं गुजरेगी। ऐसे में स्थानीय स्तर पर रेल प्रशासन की तैयारी धरी रहेगी। स्टेशन अधीक्षक त्रिभुवन मिश्रा का कहना है कि प्रतापगढ़ जंक्शन से होकर ट्रेन के गुजरने का कोई रोस्टर नहीं आया है। इधर से ट्रेन नहीं गुजरेगी, फिर भी हम तैयारी में हैं। अगर आदेश आता है तो अमल किया जाएगा। सैकड़ों टिकट रद, 10 लाख का रिफंड

सफर करने की उम्मीद में अप्रैल व मई में प्रतापगढ़ के सैकड़ों यात्रियों ने टिकट ले लिए थे। बाद में कोरोना का संकट बढ़ने पर यात्रा करने का उनका साहस जवाब दे गया। इसके बाद वह टिकट वापस करने लगे। 25 मई से रिफंड जोरों का है। अब तक करीब 10 लाख रुपये यात्रियों को लौटाए जा चुके हैं। मुख्य आरक्षण पर्यवेक्षक रणबीर सिंह ने बताया कि टिकट रद तेजी से हो रहे हैं। बुक कराने वाले लोग एक दिन में तीन-चार ही आते हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस