प्रतापगढ़ : बच्चों का खेल कभी-कभी उनकी जान ले लेता है। उनकी नादानी की ओर ध्यान न देने पर बाद में सिवाय रोने व पछताने के परिवार के पास कुछ नहीं बचता। ऐसा ही हुआ संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के अस्थवां गांव के प्रेम लाल सरोज के साथ। उसकी आठ साल की बेटी नीलम सरोज गांव के प्राथमिक विद्यालय में कक्षा दो की छात्रा थी।

प्रेमलाल मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण करता है। शुक्रवार को नीलम कुछ बच्चों के साथ घर के गेट पर झूला डालकर उस पर झूल रही थी। दोपहर करीब 12 बजे अचानक गेट पर दवाब पड़ने से गेट टूटकर गिर पड़ा। उसके मलबे में नीलम दब गई। शोर सुनकर आसपास के लोगों के साथ ही परिजन मौके पर पहुंचे। आननफानन में उसे मलबे से बाहर निकालकर सीएचसी संग्रामगढ़ ले गए, पर तब तक बहुत देर हो चुकी थी। डॉक्टरों ने नीलम को मृत घोषित कर दिया। बेटी की मौत पर मां धन्नो देवी अचेत हो गई। एसओ तुषार त्यागी का कहना है कि ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं मिली है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस