शकील अहमद, पट्टी : भारतीय जनता पार्टी ने कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह को लगातार छठीं बार पट्टी से चुनाव लड़ाने का फैसला किया है। हैट्रिक लगाने के बाद मोती सिंह 2012 में सपा प्रत्याशी राम सिंह पटेल से चुनाव हार गए थे। फिर 2017 में मोती सिंह ने पट्टी में कमल खिला दिया था।

पट्टी तहसील के सर्वजीतपुर गांव के रहने वाले राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह को भाजपा ने पहली बार वर्ष 1996 में पट्टी से चुनाव लड़ाया था और वे सदन में पहुंचने में कामयाब रहे थे। इसके बाद वर्ष 2002, 2007 में लगातार पट्टी से विधायक निर्वाचित हुए थे। वर्ष 2002 में बसपा-भाजपा गठबंधन सरकार में पहली बार उन्हें कृषि राज्य मंत्री बनाया गया था। वर्ष 2012 में वे दस्यु सरगना रहे ददुआ के भतीजे राम सिंह पटेल से मामूली मतों के अंतर से चुनाव हार गए थे।

वर्ष 2017 में भी भाजपा ने फिर उन्हीं पर भरोसा जताया और उन्होंने सपा प्रत्याशी राम सिंह पटेल को शिकस्त दी। फिर योगी सरकार में उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया। जैसा पहले से ही यह तय माना जा रहा था कि इस बार भी पार्टी उन्हें ही चुनाव मैदान में उतारेगी। इस बीच भाजपा ने शुक्रवार को प्रत्याशियों की सूची जारी की तो जिले की चार सीटों में से पट्टी सीट पर उनका नाम घोषित था।

चुनाव में मोती सिंह समर्थकों के साथ पूरी दमदार इसे मेहनत किए और नतीजा रहा कि वे जिस ददुआ के भतीजे राम सिंह से चुनाव हारे थे उसी को चुनाव हराकर पुन: विधायक बनने में सफल रहे और उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार गठित होने के बाद इन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया।

बता दें कि मोती सिंह ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से एलएलबी की पढ़ाई पूरी करने के बाद अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत पूर्व मंत्री प्रोफेसर वासुदेव सिंह के सानिध्य में किया। वे मंगरौरा के ब्लॉक प्रमुख और एमएलसी भी रहे।

------------------

सभी प्रमुख दलों ने पट्टी से घोषित किए प्रत्याशी

संसू, पट्टी : विधानसभा क्षेत्र पट्टी से भाजपा, सपा, कांग्रेस, बीएसपी ने अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। प्रत्याशियों के मैदान में आने के बाद पट्टी में चुनाव का पारा ठंड के मौसम में भी चढ़ गया है।

सपा ने दस्यु सरगना रहे ददुआ के भतीजे पूर्व विधायक राम सिंह पटेल को तीसरी बार चुनाव मैदान में उतारा है। राम सिंह पटेल वर्ष 2012 के चुनाव में मोती सिंह को पराजित कर विधायक बने थे। कांग्रेस ने पूर्व जिला पंचायत सदस्य कोठियार गांव निवासी सुनीता पटेल को प्रत्याशी बनाया है, वहीं बहुजन समाज पार्टी ने फूल चंद्र मिश्र पर भरोसा जताते हुए उन्हें पट्टी से मैदान में उतारा है। भाजपा ने फिर कैबिनेट मंत्री मोती सिंह को प्रत्याशी बनाया है।

चारों प्रमुख दलों के प्रत्याशियों के मैदान में आ जाने के बाद क्षेत्र में जगह-जगह चुनावी चर्चा तेज हो गई है। चाय की दुकान हो य चौराहा, मोहल्ला हो य चौबारा, सभी जगह लोग अपना-अपना तर्क रखकर प्रत्याशियों की जीत हार पर कयास लगा रहे हैं।

Edited By: Jagran