मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

प्रतापगढ़ : विकास भवन में शुक्रवार को जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में 718 गांवों को फर्जी ढंग से घोषित किए जाने को लेकर जमकर हंगामा हुआ। इन गावों की समीक्षा के लिए पांच मार्च की तिथि सुनिश्चत हुई ताकि गुण-दोष के आधार पर कार्रवाई सुनिश्चित हो सके। वहीं

सांसद कुंवर हरिवंश सिंह की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में परियोजना निदेशक दयाराम यादव ने कार्य‌र्क्रमों की रूपरेखा प्रस्तुत की। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के प्रगति पर विचार विमर्श किया गया। इसमें डीसी मनरेगा द्वारा अवगत कराया गया कि वर्तमान समय में जिले में योजना के अंतर्गत कराये जा रहे कार्यों एवं श्रम व सामग्री के अनुपात को व्यवस्थित रखने का प्रयास किया जा रहा है। दीनदयाल अंत्योदय योजना की प्रगति के समीक्षा के दौरान बताया गया कि दीनदयाल अन्त्योदय योजना-एनआरएलएम के अंतर्गत जिले में समूह गठन के वार्षिक लक्ष्य 768 के सापेक्ष माह जनवरी 2019 तक कुल 635 महिला समूहों का गठन किया गया। इस योजनान्तर्गत सांसद कुंवर हरिवंश सिंह ने कहा कि जिला स्तर पर एक समिति बना ली जाए, ताकि इस योजना के अन्तर्गत सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की प्रगति पर विचार विमर्श के दौरान बताया गया कि वर्तमान में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजनान्तर्गत कुल 75 मार्गों पर अनुरक्षण का कार्य कराया जा रहा है, जिस पर कैबिनेट मंत्री के प्रतिनिधि विनोद पांडेय द्वारा बताया गया कि 20 सड़कों की स्थिति बहुत ही खराब है। बैठक में सांसद ने निर्देशित करते हुए कहा कि 20 सड़कों की जांच करायी जाए, यदि निर्माण कार्य मानक के अनुरूप नहीं पाया जाता है तो संबंधित के खिलाफ कार्यवाही की जाए। वहीं स्वच्छ भारत मिशन कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान मंत्री प्रतिनिधि विनोद पांडेय ने कहा कि जनपद में सभी शौचालय पूर्ण नहीं थे तो जनपद ओडीएफ कैसे घोषित हो गया, इस पर हंगामा शुरू हो गया। जिला पंचायत राज अधिकारी ने सफाई दी कि बेस लाइन आच्छादन के आधार पर जनपद को ओडीएफ घोषित किया गया, जबकि 718 गांव ओडीएफ नहीं हो पाए हैं। समीक्षा के दौरान जिला पंचायत राज अधिकारी से स्वच्छ भारत मिशन के तहत कार्यक्रमों के संबंध में जानकारी चाही गई तो डीपीआरओ स्पष्ट जवाब नहीं दे पाए। समीक्षा बैठक में सांसद ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि जिन ग्रामों में शौचालय का निर्माण कार्य नहीं कराया गया है, संबंधित अधिकारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी जाए।

बिजली के अधूरे काम को ठीक करने का निर्देश : दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की समीक्षा में बताया गया कि कार्यदायी संस्था मेसर्स आरकेईसी के अवशेष एवं छुटे हुये कार्यों को पूर्ण कराने के लिए मेसर्स बजाज इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड को प्रबंध निदेशक पूर्वाचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड वाराणसी के कार्यालय द्वारा आदेश निर्गत कर दिया गया है। मेसर्स बजाज इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड द्वारा वर्तमान में मेसर्स आरकेईसी के अधूरे एवं छूटे हुये कार्यों को प्रारंभ कर दिया गया है। बैठक में अधीक्षण अभियन्ता विद्युत वितरण मंडल द्वारा स्पष्ट रूप से निर्देशित कर दिया गया कि उनके द्वारा समस्त जनप्रतिनिधियों के समय-समय पर सम्पर्क स्थापित किया जाये एवं विद्युतीकरण कार्य का लोकार्पण उनके माध्यम से कराया जाये। इसके अलावा समीक्षा बैठक में सांसद हरिवंश सिंह द्वारा कई निर्देश भी दिये गये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी धीरेन्द्र प्रताप सिंह, रोशनलाल उमर वैश्य, ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह के प्रतिनिधि दिनेश शर्मा सहित कई विधायकों के प्रतिनिधि भी आए थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप