अमरगढ़, प्रतापगढ़ : आसपुर देवसरा थाना क्षेत्र के पूरे धनी गांव में रविवार की शाम मामूली बात पर शुरू हुए विवाद ने सोमवार को संघर्ष का रूप ले लिया। एक पक्ष ने पहले दो युवकों पर हमला कर उन्हें लहूलुहान कर दिया। वहीं दूसरे पक्ष के लोगों ने एक छप्पर को आग के हवाले कर दिया और बाइक में जमकर तोड़फोड़ की। सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई और दोनों पक्षों के नौ लोगों का शांतिभंग में चालान कर दिया। तनाव को देखते हुए गांव में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।

पूरे धनी गांव के रहने वाले फौजदार गौतम के यहां जौनपुर से उनका साला शिवलाल रविवार को आया हुआ था। शिवलाल देर शाम गांव के ही चौराहे पर एक दुकान पर चाय पीने गया। इस दौरान वहां मामूली कहासुनी के बाद उसे दो युवकों ने पीट दिया। इस घटना की जानकारी जब दूसरे पक्ष के लोगों को मिली तो उन लोगों ने पिटाई करने वाले युवकों की जमकर धुनाई कर दी। सूचना पुलिस तक पहुंची तो बाद में दोनों पक्ष के लोगों में सुलह समझौता करा कर मामला शांत करा दिया। सोमवार की दोपहर अचानक यह मामला उस समय गरमा गया, जब फौजदार पक्ष के लोग उनके रिश्तेदार से मारपीट करने वाले दोनों युवकों के घर फिर जा धमके। उन्होंने पहले घर के सामने के छप्पर को आग के हवाले कर दिया और वहीं खड़ी बाइक में भी तोड़फोड़ कर दी। इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे गी। मौके पर थानाध्यक्ष अरविद कुमार गौड़ पहुंचे। पुलिस ने उपद्रव मचा रहे लोगों को लाठी पीटकर शांत किया। इसके बाद पुलिस ने गांव के ही दोनों पक्षों के नंदलाल, विश्राम, रामबहादुर बद्री प्रसाद, जवाहरलाल, जयराम, पूर्णमासी, श्याम सुंदर, घनश्याम व अजीत कुमार का शांतिभंग में चालान कर दिया। इस मामले में आरोपित पक्ष के अजीत तिवारी की ओर से पुलिस को तहरीर दी गई है। इसमें शिवलाल सहित अन्य के ऊपर मारपीट गाली-गलौज करने का आरोप लगाया गया है। दूसरे पक्ष की ओर से कोई तहरीर पुलिस को नहीं दी गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप