सांगीपुर, प्रतापगढ़ : क्षेत्र के लोगों को इलाज की बेहतर सुविधा मुहैया हो सके, इसके लिए सांगीपुर में सीएचसी बनाई गई, लेकिन यहां पर मरीजों को इलाज की सुविधा देने के दावे हवा में हैं। चिकित्सक व नर्स की कमी तो है ही, साथ में इलाज के अन्य जरूरी संसाधन भी नहीं हैं।

क्षेत्र के करीब दो लाख लोगों का इलाज तीन चिकित्सक के भरोसे चल रहा है। दैनिक जागरण टीम ने सोमवार को सीएचसी सांगीपुर की पड़ताल की। यह 30 बेड की सीएचसी है। प्रतिदिन करीब 300 मरीज इलाज कराने आते हैं। अस्पताल में सर्दी, जुकाम, बुखार व साधारण दर्द के इलाज के अलावा मरीजों को अन्य सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं। सीएचसी में अधीक्षक समेत तीन मेडिकल अफसर हैं। सीएचसी में सर्जन, स्त्री रोग विशेषज्ञ, बाल रोग विशेषज्ञ, हड्डी रोग विशेषज्ञ, नेत्र विशेषज्ञ, डेंटल विशेषज्ञ की कमी से इलाज की समुचित सुविधा नहीं मिल पा रही है। महिला चिकित्सक की तैनाती न होने व सिर्फ एक स्टाफ नर्स के चलते महिला मरीजों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। बाल रोग विशेषज्ञ न होने से नवजात शिशुओं की छोटी मोटी समस्या पर भी उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया जाता है। जिससे मरीज व तीमारदार को परेशानी उठानी पड़ रही है। सीएचसी में न तो एक्सरे की सुविधा है और न ही अल्ट्रासाउंड मशीन है। लैब में भी सिर्फ मलेरिया, टायफायड व शुगर की जांच की सुविधा ही मिल पा रही है। ऐसे में मरीज बाहर प्राइवेट चिकित्सक के पास भटकने को मजबूर हैं।

--

भला केसे कही, के सुने..

सीएचसी में सोमवार को इलाज कराने आई राजमतीपुर की सुषमा देवी, दीवानगंज के हरिकेश वर्मा, राकी के राम अभिलाष, बूबूपुर की फूलकली, रेहुआ लालगंज के सुरेश शर्मा आदि बेहाल दिखे। उनको कहना रहा कि केसे हम सबे कही, के सुने..। सीएचसी में अव्यवस्थाओं का बोलबाला है। इलाज के नाम पर खांसी, जुकाम, बुखार व दर्द की दवा ही मिलती है। एंटीरेबीज इंजेक्शन की आए दिन कमी बता दी जाती है। जांच के नाम पर भी बाहर ही भटकना पड़ता है। लोगों का कहना रहा कि सबसे अधिक समस्या महिला मरीजों, नवजात शिशुओं व हड्डी के मरीजों को उठानी पड़ रही है। जाने कब यहां व्यवस्था सही हो सकेगी।

--

सीएचसी में विशेषज्ञ चिकित्सक, स्टाफ नर्स आदि की समस्या से सीएमओ को अवगत कराया गया है। लैब में जांच मशीनों की कमी है। एक्सरे, अल्ट्रासाउंड भी नहीं है। जो सुविधा है उससे इलाज किया जा रहा है।

-डा. अभिषेक सिंह, अधीक्षक

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस