संसू, प्रतापगढ़ : पुलिस कर्मियों से बदसलूकी करके पुलिस लाइन में जबरन नमाज पढ़ने के मामले में एआइएमआइएम के जिलाध्यक्ष समेत तीन नामजद और अन्य कार्यकर्ताओं पर धार्मिक उन्माद फैलाने के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया गया है।

22 नवंबर से पुलिस लाइन स्थित मस्जिद में बाहरी लोगों के नमाज पढ़ने पर रोक लगा दी गई थी। इस वजह से शुक्रवार को पुलिस लाइन गेट पर बैरियर लगाकर पुलिस कर्मियों को मुस्तैद कर दिया गया था। वहीं उस दिन दोपहर साढ़े बारह बजे एआइएमआइएम के जिलाध्यक्ष इसरार अहमद की अगुवाई में दो दर्जन लोग पहुंचे और पुलिस कर्मियों से धक्कामुक्की करते हुए मस्जिद पहुंचे और वहां नमाज अदा की। मस्जिद से नमाज अदा करके बाहर निकले तो एएसपी पूर्वी ने उन्हें चेतावनी दी कि जब बाहरी लोगों को पुलिस लाइन में नमाज पढ़ने से रोका गया है तो क्यों धक्कामुक्की करके अंदर घुस गए।

इस पर नमाजियों में से कुछ लोगों ने एएसपी पूर्वी से बदसलूकी की थी। इसके बाद एएसपी और सीओ सिटी ने सभी लोगों को बाहर निकाल दिया था। इसे लेकर पुलिस लाइन से लेकर मुख्य गेट तक 30 मिनट तक अफरा-तफरी मची थी। मामले में आरआइ शैलेंद्र सिंह की तहरीर पर पुलिस ने एआइएमआइएम के जिलाध्यक्ष इसरार अहमद निवासी सरौली कोहंडौर, जफरुल हसन निवासी दहिलामऊ, सुजात उल्ला निवासी राजापुर मुफरिद कंधई समेत कई कार्यकर्ताओं पर बलवा, सरकारी कामकाज में बाधा पहुंचाने, पुलिस कर्मियों से अभद्रता करने, धार्मिक उन्माद फैलाने का प्रयास करने की धारा में मुकदमा दर्ज किया। कोतवाल सुरेंद्रनाथ ने बताया कि आरआइ की तहरीर पर तीन नामजद और एआइएमआइएम के अन्य कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस