संसू, प्रतापगढ़ : यूपी बोर्ड द्वारा हाईस्कूल एवं इंटर की परीक्षा के लिए 197 परीक्षा केंद्र जिले में बनाए गए हैं। इसमें कई विद्यालयों का परीक्षा केंद्र 15 से 20 किमी दूर बना दिया गया है। बालिकाओं को भी काफी दूर परीक्षा देने जाना पड़ेगा। बोर्ड द्वारा केंद्रों का निर्धारण होने के बाद 289 आपत्तियां आई हैं। इसका निस्तारण डीएम ने संबंधित एसडीएम के जिम्मे किया है। 25 नवंबर तक एसडीएम को अपनी रिपोर्ट देनी है। दूसरी तरफ शासन ने राजकीय व एडेड विद्यालयों को ही परीक्षा केंद्र बनाने का निर्देश दिया है।

इस बार यूपी बोर्ड की हाईस्कूल एवं इंटर की परीक्षाएं 18 फरवरी से शुरू होकर छह मार्च तक चलेंगी। परीक्षा केंद्र बनाने के लिए जिले के 600 माध्यमिक विद्यालयों द्वारा दी गई सूचनाओं का सत्यापन कराकर सूची बोर्ड को भेजी गई थी। इसमें से बोर्ड 197 विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाकर इसकी सूची भेज दी थी। जिलाविद्यालय निरीक्षक ने इस पर आपत्तियां मांगी थी। परीक्षा केंद्र को लेकर कुल 289 आपत्तियां आई हैं। इनमें से 137 विद्यालयों ने केंद्र बनाने के लिए मांग की है तो 129 ने परीक्षा केंद्र दूर बना दिए जाने को लेकर आपत्ति की है। 10 विद्यालयों का केंद्र निरस्त किए जाने तथा 13 केंद्रों पर परीक्षार्थियों की संख्या को लेकर आपत्ति की है। महात्मागांधी इंटर कालेज बहुंचरा की बालिकाओं का केंद्र 10 किमी दूर बना दिया गया है। परमे‌र्श्वर प्रसाद इंटर कालेज मालाधर छत्ता में लगभग ढाई सौ बालिकाएं हैं। इनका भी केंद्र 20 किमी दूर बना दिया गया है। जबकि यह विद्यालय पिछले साल स्वयं केंद्र बनाया गया था। सारे मानक पूरे हैं फिर भी केंद्र नहीं बन सका। इसी प्रकार राम सेवक इंटर कालेज बाबागंज का 20 किमी, सुशीला हीरालाल बालिका इंटर कालेज गौरा का 12 किमी, शिवराम इंटर कालेज कुसहा का 22 किमी, तेजवती सुरेंद्र बहादुर बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कलीमुरादपुर का 23 किमी, इंटर कालेज कुम्हीआइमा का 16 किमी दूर बनाया गया है। साधुरी शिरोमणि इंटर कालेज धनसारी गत वर्ष परीक्षा केंद्र बना था, इस वर्ष सारे मानक पूरे होने के बावजूद काट दिया गया। गत वर्ष जिले में बोर्ड परीक्षा के लिए कुल 210 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे।

---

इनसेट----

बोर्ड परीक्षा केंद्रों को लेकर आई आपत्तियों का निस्तारण के लिए डीएम ने संबंधित एसडीएम को जिम्मेदारी दी है। उन्हें 25 नवंबर तक उनका निस्तारण करना है। निस्तारण होने के बाद इसकी सूचना बोर्ड को भेजी जाएगी।

-डॉ. संतोष कुमार सिंह, डीआइओएस

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस