प्रतापगढ़ : नगर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में गुरुवार को दोपहर घर के बगल से छात्रा को अगवा कर उसे मारने का प्रयास किया गया। पहले उसे नदी में फेंकने की कोशिश हुई। बाद में उसे प्रयागराज-अयोध्या हाईवे पर चलते डीजे के सामने फेंक दिया गया। डीजे चालक के ब्रेक लगाने से छात्रा बच गई। इस मामले में आरोपितों के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी गई है।

गांव की एक युवती बीए प्रथम वर्ष की छात्रा है। गुरुवार को दोपहर करीब 12 बजे वह घर के बगल किसी काम से गई थी। आरोप है कि तभी पीछे से आए दो युवकों ने गमछे से उसका मुंह बांध दिया और अगवा करके उसे बाइक से लेकर भाग निकले। अपहर्ता शनिदेव धाम के पास छात्रा को नदी में फेंकने की फिराक में थे, लेकिन वहां पर कुछ लोग मछली मार रहे थे। इससे वहां से आगे चलकर अपहर्ता राजगढ़ प्रयागराज-अयोध्या हाईवे पर पहुंचे और चलते डीजे के सामने छात्रा को फेंक दिया। हालांकि डीजे चालक के ब्रेक लगा देने से छात्रा बाल-बाल बच गई।

छात्रा के साथ हुई घटना को देखकर आस-पास के लोग इकट्ठा हो गए। इस बीच घर पर रही छात्रा की मां शिव कुमारी उसे गायब देख परेशान हो गई। तभी युवती के पिता को किसी ने फोन कर बताया कि उनकी बेटी राजगढ़ में है। सूचना मिलने पर पिता अन्य स्वजन के साथ राजगढ़ पहुंचे और फिर बेटी को लेकर घर चले आए। सूचना मिलने पर भुपियामऊ चौकी इंचार्ज कमलेश पांडेय ने छात्रा के माता-पिता से घटना के बारे में जानकारी ली। छात्रा के पिता का कहना था कि अपहरण करने वाला नहवइया (राजगढ़) का एक युवक और उसका दोस्त था। इस बारे में चौकी इंचार्ज कमलेश पांडेय ने बताया कि छात्रा के परिजन घर से अगवा करने की बात बता रहे हैं। दो युवकों पर आरोप है। घटना की जांच की जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस