संसू, प्रतापगढ़ : वित्तीय वर्ष के अंतिम माह में आयकर विभाग की टीम ने शहर में औचक सर्वेक्षण किया। शहर के तीन प्रमुख प्रतिष्ठानों पर भारी पुलिस बल के साथ किए गए सर्वेक्षण से पूरे शहर में हलचल मची रही। टीम ने इन प्रतिष्ठानों के आय-व्यय का पूरा ब्यौरा जुटाया और अपने साथ कई कागजात आदि लेकर रवाना हुई।

फैजाबाद के अपर आयुक्त अमित कुमार निगम के नेतृत्व में तीन टीमें सोमवार सुबह ही प्रतापगढ़ पहुंच गई। औचक रूप से हो रहे इस सर्वे के दौरान कहीं विरोध के हालात न बन जाएं। इसलिए पुलिस कप्तान ने उन्हें भारी पुलिस बल भी मुहैया कराया। इसके बाद करीब 11 बजे पहली टीम ने रूमा हास्पिटल पहुंची। बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ टीम पहुंचने से वहां सैकड़ों की संख्या में मरीज व अन्य लोग भौचक रह गए। टीम ने अस्पताल के संचालकों डा. राजेंद्र ¨सह व डा. मनीष ¨सह से लंबी पूछताछ की। टीम के अन्य सदस्यों ने मेडिकल स्टोर से लेकर एक्सरे व अन्य सर्विसेज पर होने वाले आय का एक एक ब्यौरा एकत्र किया। इस पूरी प्रक्रिया में रात करीब आठ बजे तक टीम डटी रही।

उधर दो अन्य टीमों ने चौक स्थित बालाजी च्वैलर्स और राजापाल टंकी स्थित मोतीमहल रेस्तरां में सर्वेक्षण किया। इन दोनों प्रतिष्ठानों में भी आय और व्यय का पूरा आंकड़ा जुटाया गया। टीम ने सारे दस्तावेज यहां से जुटाए और शाम को रवाना हो गई। हालांकि स्थानीय स्तर पर आयकर टीम ने कोई जानकारी मीडिया को उपलब्ध नहीं कराई। मगर माना जा रहा है कि इस सर्वे से पहले विभाग ने काफी तैयारी की थी और उन्हें प्रतापगढ़ में करोड़ों रुपये की टैक्स चोरी मिली है।

छह अधिकारी, सात निरीक्षकों ने की पड़ताल

सर्वे में रायबरेली जनपद के आयकर अधिकारी एमपी ¨सह, अमेठी के रमेश कुमार, प्रतापगढ़ के पीसी मिश्रा, नन्हेंलाल, सिद्धार्थ नगर के अमित कुमार व बस्ती जनपद के आयकर अधिकारी अशोक कुमार शामिल रहे। इसके अलावा फैजाबाद से आए विभाग के निरीक्षक हरपाल ¨सह, चंद्रिका प्रसाद, अमेठी से अर¨वद श्रीवास्तव, गोंडा से नरेंद्र दूबे, जौनपुर से विपिन कुमार, शिव गो¨बद व बस्ती जनपद से राजेश कुमार ने संयुक्त रूप से छापेमारी में शामिल रहे। अफसरों के आने की सूचना के पहले ही एसपी ने सुबह ही फोर्स पुलिस लाइन में बुला ली। उन्होंने नगर कोतवाल अनुपम शर्मा, डीसीआरबी प्रभारी मृत्युंजय मिश्रा, क्राइम ब्रांच के एसआइ अनूप समेत 45 सिपाहियों को टीम के साथ उनकी सुरक्षा व सहयोग करने के कड़े निर्देश दिए।

कंप्यूटर में नहीं निकला स्टेटमेंट

सर्वे के दौरान आयकर अधिकारियों ने रूमा अस्पताल के कैश काउंटर पर पहुंचकर महिला कर्मी से तीन माह का स्टेटमेंट निकालने के लिए कहा। महिला ने आयकर अधिकारी से बताया कि जो इस काउंटर पर पहले कर्मचारी रहता था उसने नौकरी छोड़ दी। हमें आए ही कुछ दिन हुआ है। स्टेटमेंट शो नहीं कर रहा है। अफसर ने खुद कंप्यूटर चलाकर रिकार्ड ढूढ़ने का प्रयास किया मगर सफलता नहीं मिली। इसके बाद अफसर उठकर अस्पताल के संचालक के पास चले गए।

नव धनाढ़यों पर भी आयकर की नजर

प्रापर्टी व नशे से जुड़े कई लोग जो रातों रात करोड़पति हुए हैं। उन पर भी आयकर विभाग की नजर है। माना जा रहा है कि इसी माह आयकर विभाग सर्वे कर इनके खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी में है। इससे पहले इन लोगों के पूरे रिकार्ड जुटाए जा रहे हैं। ताकि बाद में बचाव की कोई स्थिति न बने।

-------------

वर्जन

अस्पताल समेत जगहों पर अभी कर रिकार्ड खंगाले जा रहे हैं। अभी इस मामले में कुछ बता पाना जल्दबाजी होगी। गड़बड़ी पाए जाने पर कार्रवाई तय हैं।

- पीसी मिश्रा, आयकर अधिकारी प्रतापगढ़।

Posted By: Jagran