प्रतापगढ़ : लोकसभा चुनाव को लेकर आदर्श आचार संहिता लगते ही रविवार की शाम जिला प्रशासन एक्शन में आ गया। शहर से लेकर अंचल तक पुलिस, प्रशासन, राजस्व, नगर पालिका, नगर पंचायत की टीमें निकल पड़ीं। राजनीतिक झंडे, बैनर, पोस्टर उखाड़ डाले।

एसडीएम सदर विनीत उपाध्याय ने शाम पांच बजे तहसील में सदर सर्किल के सभी चौकी प्रभारियों की बैठक की। कहा कि आयोग के निर्देशानुसार कार्रवाई करें। 48 घंटे के भीतर सार्वजनिक सरकारी व गैर सरकारी इमारतों से राजनीतिक प्रचार सामग्री हटा दी जाए। तहसीलदार श्रद्धा पांडेय ने भी निर्देश दिए। नगर पालिका के ईओ मुदित सिंह व आरआइ लाल बहादुर के नेतृत्व में टीम ने शहर के कई इलाकों से होर्डिग-बैनर हटवाए। इसी प्रकार रानीगंज, लालगंज, पट्टी, कुंडा तहसील क्षेत्र में भी होर्डिग-बैनर हटवाए गए।

निष्पक्ष चुनाव कराने में प्रशासन पूरी तरह सक्षम : चुनाव आचार संहिता का कड़ाई से पालन कराने और पूरी चुनाव प्रक्रिया निष्पक्षता से संचालित करने के लिए प्रशासन सक्षम है। किसी को भी चुनाव प्रभावित करने नहीं दिया जाएगा। डीएम मार्कंडेय शाही ने साफ कहा है कि चाहे वह प्रत्याशी हो, राजनीतिक दल का व्यक्ति हो, सरकारी व गैर सरकारी व्यक्ति हो, किसी को भी चुनाव बाधित नहीं करने दिया जाएगा। इसके लिए जिले के सभी 22 हजार असलहों का सत्यापन कराया जा रहा है। चुनाव आचार संहिता लागू होने के तुंरत बाद कैंप कार्यालय पर डीएम व एसपी ने तैयारियों की जानकारी मीडिया को दी। डीएम ने बताया कि हर हाल में निष्पक्ष चुनाव कराया जाएगा। एसपी एस आनंद ने बताया कि अराजकतत्वों पर पुलिस की नजर है। उनको मतदान से पहले पाबंद और गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Posted By: Jagran