पीलीभीत : बीसलपुर व बरखेड़ा में बुखार से छात्रा समेत दो और लोगों की मौत हो गई। नगर के विभिन्न मुहल्लों के साथ ही गांवों में तमाम लोग इस जानलेवा बुखार से जूझ रहे हैं। सीएमओ के निर्देश पर बीसलपुर में स्वास्थ्य विभाग की टीमें भेजी गई हैं।

बीसलपुर: पिछले दो सप्ताह से वायरल फीवर व डायरिया ने अपने पांव पसार रखे हैं। ग्राम दिवाली निवासी रामपाल के पुत्र धर्मदेव 15 दिनों से तेज बुखार से पीडि़त चल रहा था। उपचार शहर के एक निजी चिकित्सालय में चल रहा था। मंगलवार की रात हालत बिगड़ जाने पर परिजन उन्हें लेकर बरेली को निजी चिकित्सालय लेकर जा रहे थे। ग्राम भुता के पास युवक की सांसें थम गईं। गांव के एक दर्जन से अधिक लोग तेज बुखार से ग्रसित चल रहे हैं। इसके अलावा मुहल्ला ग्यासपुर जमीलन, गुड्डी बेगम, ग्यासुद्दीन, मुन्ने, इकबाल, हबीब, आदरा, नफीसन, छोटू, मुहल्ला दुर्गा प्रसाद में लालाराम की पत्नी मुलोदेवी, दिनेश कुमार, संजय, मिथुन, आशू, गयादीन, मुहल्ला दुबे निवासी नीरज कुमार, संदीप, अभय कुमार, डालचंद, मुहल्ला हबीबुल्ला खां जुनुबी निवासी जाबिर अली, शब्बीर समेत दर्जनों लोग तेज बुखार से पीड़ित चल रहे हैं। शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में लोग बुखार से पीड़ित हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने आधा दर्जन से अधिक बुखार से प्रभावित अहिरवाड़ा, दुवहा, परिसया, शिवपुरी नवदिया, जसोली समेत कई ग्रामों में पहुंचकर मरीजों को दवाइयां वितरित कीं। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. ठाकुरदास ने बताया कि सूचना मिलने पर उन सभी ग्रामों में टीमों को भेजा जा रहा है जहां वायरल फीवर का प्रकोप है।

बरखेड़ा :क्षेत्र के ग्राम नवादा महेश निवासी हरिओम की 14 वर्षीया पुत्री पूजा कस्बा के राजकीय वालिका इंटर कालेज में कक्षा 9 की छात्रा थी। छात्रा की मां सोनकली ने बताया कि उसकी पुत्री को दो तीन दिन पहले तेज बुखार आया। प्राइवेट चिकित्सक के यहां इलाज कराया, लेकिन मंगलवार की देर सायं तबीयत बिगड़ने पर पीलीभीत ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई।

Posted By: Jagran