पूरनपुर : हाईवे निर्माण एजेंसी की लापरवाही कहें या भूल खमरिया पट्टी गांव का दशकों पुराना नाम बदल कर मारिया पट्टी कर दिया। हाईवे किनारे लगाया गया यह स्थान सूचक बोर्ड गांव पहुंचने वाले राहगीरों को भ्रमित कर रहा है।

पूरनपुर पीलीभीत हाईवे तक आसाम हाइवे के चौड़ीकरण का काम चल रहा है। इस दौरान मील के पत्थर और हाइवे के किनारे स्थित गांवों के नाम के बोर्ड भी नए सिरे से लगाए जा रहे हैं। लापरवाही के चलते मील के पत्थर लगाकर कोरे छोड़ दिए गए हैं। अभी तक इन पत्थरों में दूरी अंकित नहीं की गई है। पूरनपुर पीलीभीत रोड पर गांव खमरिया पट्टी स्थित है। इस गांव का नाम दशकों से खमरिया पट्टी ही चला आ रहा है लेकिन कार्यदायी विभाग ने गांव के दशकों पुराने नाम को ही बदल दिया। हाईवे किनारे गांवों के दोनों ओर गांव को संबोधित करते हुए रेडियमयुक्त बोर्ड लगाए गए हैं। इन बोर्ड पर खमरिया पट्टी का जगह मारिया पट्टी अंकित कर दिया गया। बोर्ड पर नाम गलत लिखे जाने की जानकारी लगने के बाद भी लापरवाही के चलते उसे संशोधित नहीं किया गया। इससे गांव पहुंचने वाले लोग भटकते रहते हैं। नाम गलत लिखा होने से राहगीर भी गुमराह हो रहे हैं। गांव में पहुंचने वाले अधिकारियों को भी गांव ढूंढना पड़ रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि नाम सही कराने की मांग की गई लेकिन हठधर्मिता के चलते उसे बदला नहीं गया। एसडीएम जेपी ¨सह ने जानकारी न होना बताया।

Posted By: Jagran