पीलीभीत : योगी सरकार ने दूसरे बजट में किसानों की आय दोगुनी करने की घोषणा की है। इससे किसानों में खुशी है। कहना है कि सरकार की जिम्मेदारी है कि इस घोषणा को पूरा भी किया जाए , इसके अलावा शिक्षा के लिए बजट में पर्याप्त धनराशि का प्रावधान किया गया है, इसे भी किसान अपने बच्चों के हितों के लिए उठाया गया कदम मानते हैं।

किसानों का कहना है कि सबसे ज्यादा दिक्कत कृषि उपज को मंडियों तक पहुंचाने में आती है। ग्रामीण क्षेत्र के ज्यादातर संपर्क मार्ग बदहाल हैं। कई बार लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से मांग किए जाने पर बजट नहीं होना बताया गया। अब सरकार ने सड़कों के लिए 11 हजार 343 करोड़ रुपये का प्रावधान कर दिया है। इस धनराशि में से जिले को भी पर्याप्त धनराशि मिल जाने की उम्मीद जगी है। जिससे सड़कों की हालत सुधारी जा सकेगी। शिक्षा के लिए 18 हजार 167 करोड का प्रावधान किए जाने से सुविधाएं बढ़ेंगी, जिसका फायदा विद्यार्थियों को मिलेगा। गरीब परिवारों के लिए पांच लाख घर बनाने का भी बजट में ऐलान हुआ है। इससे गांवों में रहने वाले गरीब परिवारों फायदा मिलेगा। कुछ न कुछ हिस्सा जिले में भी आएगा। साथ ही माध्यमिक शिक्षा अभियान के लिए भी 480 करोड़ रुपये का प्रावधान है। इससे जूनियर हाईस्कूलों को राजकीय हाईस्कूल बनाने के लिए गांवों में बालिका शिक्षा का माहौल बेहतर बनेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर किसानों को पूरा भरोसा है। उन्होंने अगर किसानों की आय दोगुनी करने की घोषणा कर दी है तो उम्मीद है कि वे उसे पूरा भी करेंगे। बजट में जो भी प्रावधान किए गए हैं अथवा योजनाएं घोषित की गई हैं, उन पर समय से क्रियान्वयन होना चाहिए।

मुकेश कुमार, मीरपुर पट्टी

सड़कों के निर्माण के लिए सरकार ने बजट बढ़ा दिया है। इससे किसानों को अच्छी सड़कों का लाभ मिल जाने की उम्मीद है। संपर्क मार्गों के दुरुस्त हो जाने से कृषि उपज को मंडियों तक आसानी से पहुंचाया जा सकेगा। गरीब परिवारों के लिए घर बनाने की घोषणा भी अच्छी है।

तोताराम, कल्यानपुर नौगवां

जितनी भी योजनाएं हैं, उनका क्रियान्वयन इस तरह से होना चाहिए कि पात्रों को लाभ लेने के लिए भटकना न पड़े। सरकार को चाहिए कि बजट में जो कुछ भी घोषणाएं हुई हैं, उन्हें समय पर लागू कराना भी सुनिश्चित किया जाए। तभी किसानों को राहत मिल सकेगी।

छत्रपाल, मुड़िया रामकिशन

यह अच्छी बात है कि केंद्र की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार किसानों का जीवन स्तर ऊंचा उठाने का प्रयास कर रहे हैं। इन दोनों से ही किसानों ने बड़ी उम्मीदें लगा रखी हैं। पूरी ईमानदारी से योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाने की व्यवस्था होनी चाहिए।

गोकुल प्रसाद, जमुनिया खासपुर

Posted By: Jagran