पीलीभीत, जेएनएन : मंगलवार की सुबह क्षेत्र के दो दर्जन से अधिक परिवारों में उस समय अफरा तफरी मच गई, जब उन्हें पता चला कि उनके बच्चों को स्कूल ले जाने, लाने वाली वैन हादसे का शिकार हो गई। आनन फानन अभिभावक बच्चों की कुशलक्षेम जानने के लिए मौके पर रवाना हो गए। गनीमत रही कि हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ।

अमरिया स्थित सेंट मेरी पब्लिक स्कूल में एक बोलेरो गाड़ी को स्कूल वैन के तौर पर उपयोग किया जा रहा है। रोज की भांति मंगलवार को सुबह यह गाड़ी फरीदपुर, ढेरम व सुकटिया गांवों से बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी। रास्ते में पौटा गांव के पास गाड़ी का अचानक संतुलन बिगड़ गया और वह सड़क से उतरकर खाई में जा घुसी। गनीमत रही कि गाड़ी पलटी नहीं, वरना बड़ा हादसा हो जाता। इस गाड़ी में इन तीनों गांवों के 28 बच्चे सवार थे। हादसे से सभी बच्चे सहम गए। उधर जब इन बच्चों के अभिभावकों को हादसे की जानकारी हुई तो उनके परिवारों में अफरा तफरी मच गई। बच्चों को सुरक्षित पाकर अभिभावकों ने राहत की सांस ली। बच्चों ने बताया कि हादसे के बाद आसपास खेतों में काम कर रहे लोगों ने उन्हें गाड़ी से बाहर निकाला। इस हादसे में दो बच्चों को मामूली चोटें आई हैं। अभिभावकों का कहना है कि स्कूल प्रबंधन को कई बार अवगत कराया गया कि इस गाड़ी में बच्चे अधिक हो जाते हैं। ऐसे में एक और वाहन की व्यवस्था कराई जाए लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। हालत यह है कि बोलेरो गाड़ी में जगह कम पड़ जाती है। बच्चों की अधिक हो जाती है। ऐसे में बच्चे एक दूसरे के ऊपर बैठते हैं। जिससे हादसा होने का खतरा बना रहता है।

इनसेट

इस गाड़ी को अभिभावकों की ओर से ही लगाया गया। गाड़ी 10 सीटर में पास है। कागजात दुरुस्त हैं। चालक अधिक आमदनी के कारण ज्यादा बच्चों को बैठा लेता है, इसीलिए हादसे के बाद गाड़ी को हटा दिया है। एक-दो दिन में स्कूल की ओर से दूसरे वाहन की व्यवस्था सुनिश्चित करा दी जाएगी। इसकी जानकारी अभिभावकों को दे दी है।

विजय कुमार, प्रधानाचार्य सेंट मेरी पब्लिक स्कूल

Edited By: Jagran