पीलीभीत,जेएनएन : बरसात के बाद अनेक स्थानों पर पानी भरने से उसमें मच्छरों का लार्वा पलता रहा। परिणामस्वरूप मच्छरों की फौज बढ़ गई। डेंगू के कई मरीज निकल चुके। साथ ही मलेरिया के मरीजों की संख्या भी बढ़कर 30 हो चुकी है। मलेरिया विभाग की टीमों ने जिले के अनेक गांवों में शिविर लगाकर 1442 बुखार पीड़ितों की जांच की है। जांच में चार मलेरिया के मरीज और मिले हैं।

शहर के मुहल्ला डालचंद में कई दिन पहले डेंगू आशंकित मरीज मिला था। टीम ने मुहल्ले में पहुंचकर बुधवार को 125 घरों में डेंगू लार्वा की जांच की। चार घरों में फ्रिज के पीछे की ट्रे व चार घरों के कूलर में डेंगू मच्छर का लार्वा पनपता पाया गया। इन घरों में रहने वालों को नोटिस जारी किया गया। जिले में अब तक डेंगू के सात मरीज मिल चुके हैं। पांच लोगों के सैंपल की रिपोर्ट लैब से आना शेष है। सहायक जिला मलेरिया अधिकारी राजीव कुमार मौर्य के अनुसार मलेरिया के सबसे अधिक दस मरीज बीसलपुर में मिल चुके जबकि पूरनपुर में सात मरीज मिल चुके। इन सभी का विभिन्न अस्पतालों में उपचार चल रहा है। ग्राम विक्रमपुर में टीम ने 20 लोगों की मलेरिया और सात लोगों की डेंगू जांच की गई। कुल 96 घरों में लार्वा की जांच हुई, जिसमें 12 घरों में डेंगू का लार्वा पाया गया।

बीसलपुर : डेंगू बुखार व मलेरिया पर नियंत्रण पाने के लिए जिलाधिकारी द्वारा जनपद के सभी ग्राम प्रधानों को आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व आशा महिलाओं के सहयोग से अभियान चलाकर गांव में गड्ढों में भरे पानी को निकलवा कर उन्हें समतल कराए जाने के निर्देश जारी किए हैं। साथ ही प्रत्येक गांव में तालाब, पोखर में भरे पानी में कीटनाशक का छिड़काव व गांव में फागिग कराने की सख्त हिदायत दी है। अनुपालन में ग्राम प्रधानों ने पहल शुरू कर दी है। ग्राम मुसेली के ग्राम प्रधान मोहम्मद इश्तियाक अल्वी ने गांव के प्राथमिक विद्यालय परिसर में बने गड्ढों में भरा वर्षा का पानी निकलवा कर मिट्टी डालकर उन्हें समतल कराया। उन्होंने गांव में भी कई मार्गों पर बने गड्ढों को मिट्टी डलवा कर उन्हें पटवा दिया। इस मौके पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता वंदना पाठक मौजूद रहीं। ग्राम प्रधान ने बताया कि गांव में फागिग कराने के लिए मशीन खरीद ली गई है। तालाबों में कीटनाशक का छिड़काव भी कराएंगे। ग्राम चौसर हरदो पट्टी में ग्राम प्रधान शोभना कुमारी द्वारा गांव में गड्ढों को समतल कराया गया तथा तालाबों में कीटनाशक का छिड़काव कराया गया। एडीओ पंचायत सुरेश वर्मा ने बताया कि सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम प्रधानों द्वारा गड्ढों को समतलीकरण कराया जा रहा है। साथ कीटनाशक का छिड़काव व फागिग भी कराई जा रही है। नगर में भी पालिका प्रशासन की ओर से बुधवार को कीटनाशक का छिड़काव कराया गया।

Edited By: Jagran