पीलीभीत, जेएनएन : शारदा नदी में पानी घटने के बाद रविवार सुबह फिर बढ़ गया है। इससे कटान का खतरा काफी बढ़ता जा रहा है। कटान को लेकर गांव राहुलनगर के लोग चितित हैं। राणाप्रतापनगर में शारदा के वेग से टूटे बांध की मरम्मत तेजी से कराई जा रही है। पानी बढ़ने से ग्रामीणों में बाढ़ की आशंका है।

पांच दिन पहले वनबसा बैराज से शारदा नदी में 2.28 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से शारदा नदी उफना गई थी। बढ़ा हुआ जलस्तर ट्रांस शारदा क्षेत्र के निचले भागों में आने से बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। तेज बहाव होने से राणाप्रतापनगर के दक्षिण दिशा में बाढ़ खंड के द्वारा बनाया गया बंधा कट गया था। इससे सड़कों और खेतों में पानी भर गया था। अब शारदा नदी का जलस्तर कम हो जाने से भूमि कटान का खतरा बढ़ गया है। शारदा नदी नहरोसा गांव के ईदगाह के पास हल्का कटान भी शुरू कर रही है। बाढ़ खंड के अभियंता पीडी मौर्य की देखरेख में बंधा मरम्मत कार्य तेज कर दिया गया है। ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर मजबूती से काम करने की भी बात कही। सिद्धनगर हजारा मार्ग के रपटा पुल पर अभी भी बाढ़ का पानी चल रहा है। ग्रामीणों को आवागमन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। रामनगर चंद्रनगर मार्ग पर सुतिया नाला पर बने रपटा पुल काफी समय से क्षतिग्रस्त है। पुल के ऊपर से ग्रामीण वाहन सहित गुजर रहे हैं जिससे बड़ी दुर्घटना की आशंका है। रविवार सुबह फिर से नदी का पानी में बढ़ा है। कटान का भय और बढ़ गया है। उपजिलाधिकारी राजेन्द्र प्रसाद ने अभी कटान न होने की बात कही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस