पूरनपुर: पिपरिया दुलई के बा स्कूल में चल रहे चार दिवसीय आरोहिणी कार्यक्रम का समापन कर दिया गया। बच्चों ने बाल विवाह रोकने के लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखे व नुक्कड़ नाटक भी प्रस्तुत किए। बच्चों ने गांव में जनजागरूक रैली निकालकर ग्रामीणों को छोटी उम्र में बच्चों की शादी न करने के लिए प्रेरित किया।

बीआरसी क्षेत्र गांव पिपरिया दुलई के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में 24 मई को आरोहिणी कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया था। बालिकाओं को सशक्त और स्वस्थ बनाने के लिए चल रहे इस कार्यक्रम का रविवार को समापन कर दिया गया। कार्यक्रम के दौरान बालिकाओं ने बाल विवाह की कुप्रथा रोकने के लिए गांव में जागरुकता रैली निकाली व लोगों को जागरुक किया। इस दौरान बच्चों ने ग्रामीणों से शपथ पत्र पर अंगूठा व हस्ताक्षर भी कराए। बालिकाओं ने बाल विवाह रोकने के लिए मुख्यमंत्री को संबोधित पत्र भेजे। इसके साथ ही बालिकाओं ने जागरुकता से ओतप्रोत कविताएं व नुक्कड़ नाटक भी प्रस्तुत किए। बाल विवाह एक गुलामी पर पोस्टर प्रतियोगिता भी कराई गई। इस अवसर पर पूनम कटियार,चंचल गंगवार, पूनम गंगवार,प्रतिमा देवी व नीरज यादव आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran