पूरनपुर (पीलीभीत) : माधोटांडा पीएचसी में किसी भी डॉक्टर की नियुक्ति न होने के कारण मरीजों को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र केवल फार्मासिस्ट के सहारे ही चल रहा है। ऐसा तब है जब अस्पताल वायरल फीवर व मौसमी बीमारियों से भरा रहता है। एसडीएम कलीनगर को निरीक्षण में जो नजारा दिखा उसे देखकर उन्होंने पूरे मामले से डीएम को अवगत कराया है।

तीन दिन पूर्व अस्पताल में डॉक्टर की नियुक्ति को लेकर एसडीएम ने सीएमओ से फोन पर वार्ता की थी। इस पर सीएमओ ने पूरनपुर सीएचसी में नियुक्ति डाक्टर विनीत को एक दिन माधोटांडा अस्पताल में भेजा था। बीमारियां बढ़ने के साथ ही मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इसको लेकर मरीजों की अस्पताल में भीड़ उमड़ रही है। कलीनगर एसडीएम पुष्पा देवरार शनिवार 10 बजे अचानक माधोटांडा पीएचसी पहुंच गईं। अस्पताल मरीजों से खचाखच भरा हुआ था। फार्मासिस्ट श्यामसुंदर मरीजों का इलाज कर रहे थे। अस्पताल में चिकित्सक न होने को लेकर एसडीएम ने नाराजगी व्यक्त कर जिलाधिकारी को मामले की जानकारी दी है।

Posted By: Jagran