पूरनपुर (पीलीभीत) : गेहूं की फसल कटवाने के विवाद में फावड़े से पिता की हत्या करने वाला आरोपित पुलिस को चकमा देकर कोतवाली से फरार हो गया। कोतवाली से कुछ ही दूर पर होमगार्ड ने पकड़ लिया। आक्रोशित आरोपित ने ईंट से होमगार्ड को लहूलुहान कर सरकारी राइफल के भी टुकड़े कर दिए और फरार हो गया। पुलिस कर्मियों ने लगभग एक किमी दूर सड़क किनारे दबोच लिया। पुलिस ने बेरहमी से पिटाई की, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। सीएचसी में घंटों उपचार करने के बाद भी उसकी हालत में सुधार न होने पर उसे पीलीभीत रेफर कर दिया गया।

घटना सोमवार शाम की है। कोतवाली क्षेत्र के गांव अमरैया कलां के मृतक छोटेलाल राजपूत के डेढ़ एकड़ खेत में गेहूं की फसल खड़ी है। बेटे धर्मपाल ने फसल को खुद कटवाने के लिए पिता छोटेलाल राजपूत की फावड़े से हत्या कर दी थी। घटना को अंजाम देने के बाद से आरोपित फरार हो गया था। मंगलवार को पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया और हवालात में बंद करने के बजाय कार्यालय में पड़ी बेंच पर बैठा दिया। रात में जब कार्यालय में मौजूद मुंशी काम में व्यस्त थे तभी आरोपित धर्मपाल मौका देखकर कोतवाली से भाग गया। होमगार्ड प्रियम् मिश्र और अन्य पुलिस कर्मी उसे पकड़ने के लिए दौड़े। होमगार्ड प्रियम ने नगर के ही मुहल्ला कायस्थान में हत्यारोपी धर्मपाल राजपूत को पकड़ लिया। इस दौरान आरोपित होमगार्ड पर हमलावर हो गया। ईंट से प्रहार कर होमगार्ड को बुरी तरह घायल कर दिया और सरकारी राइफल भी सड़क पर पटककर तोड़ डाली। घायल होमगार्ड ने फोन से कोतवाली में सूचना दी। कोतवाल फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और होमगार्ड की निशानदेही पर गाड़ी दौड़ा दी। पुलिस ने पीलीभीत रोड पर जसवंती राइस मिल के पास भाग रहे आरोपित को दबोच लिया।

होमगार्ड की भी हालत गंभीर

पुलिस हिरासत से फरार हुए आरोपित को होमगार्ड प्रियम् मिश्र ने दौड़ाकर दबोच लिया था। होमगार्ड और आरोपी के बीच हाथापाई हुई। इस दौरान आरोपित धर्मपाल ने पास में पड़ी ईंट से होमगार्ड के सिर पर कई प्रहार कर उसे घायल कर दिया। होमगार्ड के बेसुध होकर घटना स्थल पर पड़ा रहा। कोतवाल योगेंद्र शर्मा ने होमगार्ड को सीएचसी में भर्ती कराया। सिर में गंभीर चोट होने पर प्राथमिक उपचार के बाद होमगार्ड को पीलीभीत रेफर कर दिया।

होमगार्ड की पिटाई करने के बाद आरोपित पीलीभीत रोड पर खमरिया तिराहा की ओर भागता हुआ जा रहा था। कोतवाली में पुलिस ने उसके साथ थर्ड डिग्री का इस्तेमाल करते हुए जमकर पिटाई लगाई जिससे आरोपित धर्मपाल की हालत बिगड़ गई। बेसुध होने पर पर पुलिस ने आनन फानन में उसे सीएचसी में भर्ती कराया जहां घंटों उपचार चलने के बाद भी उसे होश नहीं आया। सीएचसी में सीओ योगेंद्र कुमार व कोतवाल योगेंद्र शर्मा चिकित्सकों के साथ उसे होश में लाने के तमाम प्रयास करते रहे लेकिन उसने आंखें नहीं खोली। डाक्टर ने पीलीभीत रेफर कर दिया। कोतवाली में कहां से आया नशा

पुलिस आरोपित की पिटाई करने से साफ इंकार कर रही है। पुलिस के मुताबिक उसने तबीयत खराब होने की बात कही जिस पर उसे सीएचसी लाया गया जहां चिकित्सक ने उसे कोई परेशानी होना नहीं बताकर बिल्कुल फिट बताया। इसके बाबजूद आरोपित को होश में नहीं आया। उपचार कर रहे डॉक्टर अभिनव पांडे ने बताया कि वह नशे में है, इसलिए इसकी हालत ऐसी हो गई है। नशा कम होने पर होश में आ जाएगा। अब सवाल यह है आरोपित को कोतवाली में नशे की सामग्री कहां से मिली। कोतवाल ने दर्ज कराया मुकदमा

पुलिस अभिरक्षा से फरार होने वाले आरोपित धर्मपाल के खिलाफ कोतवाल योगेंद्र शर्मा ने मुकदमा पंजीकृत कराया है। सरकारी काम में बाधा होमगार्ड पर जान से मारने की नियत से हमला करने सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। रात में आरोपित गिरफ्तार किया गया था। दाखिला करने के दौरान छूटकर भाग गया। होमगार्ड उसके पीछे भागा, जिस पर आरोपित ने उस पर हमला कर दिया। होमगार्ड गंभीर रूप से घायल हो गया। उपचार के लिए पीलीभीत में भर्ती कराया गया है। आरोपित तबीयत खराब होने का ढोंग कर रहा है। छीना झपटी के दौरान राइफल में लगा लकड़ी का बट टूट गया। आरोपित के साथ कोई मारपीट नहीं की गई। वह पहले से ही मनोरोगी है जिसकी दवा चल रही थी।

-योगेंद्र कुमार, पुलिस क्षेत्राधिकारी पूरनपुर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस