बीसलपुर (पीलीभीत) : गर्मी बढ़ते ही क्षेत्र में पेयजल का संकट गहराने लगा है। खराब पड़े इंडिया मार्का हैंडपंपों को ठीक करवाने के लिए विभागीय अधिकारियों की ओर से मात्र कागजी घोड़े दौड़ाए जा रहे हैं। लोग हैंडपम्पों के ठीक न होने से पेयजल संकट से परेशान हैं।

नगर में पेयजल किल्लत से निपटने के लिए पालिका प्रशासन द्वारा 25 वार्डो में दर्जनों इंडिया मार्का हैंडपम्प लगवाए गए है। देखरेख के अभाव में एक दर्जन से अधिक हैंडपंप पिछले कई महीनों से खराब पड़े हुए है। हरित क्रांति कालोनी में, मोहल्ला दुर्गाप्रसाद, मालगोदाम रोड, कस्तूरबा गांधी विद्यालय सहित एक दर्जन स्थानों पर लगे इंडिया मार्का हैंडपम्प पूरी तरह से खराब पड़े हुए है। कृषि उत्पादन मण्डी समिति में दो इंडिया मार्का हैंडपम्प खराब है। भीषण गर्मी के चलते इन हैंडपम्पों को खराब होने से लोगों को असुविधा हो रही है। पालिका प्रशासन ने खराब पड़े हैंडपम्पों को ठीक कराने के लिए जलनिगम को सूचना भेज दी है परंतु जलनिगम विभाग द्वारा इस ओर ध्यान देने की जहमत नहीं उठायी है, जिससे गर्मी में पेयजल का संकट गहराया हुआ है। पालिका के अधिशासी अधिकारी रविशंकर शुक्ल का कहना है कि खराब हैंडपम्पों को रीबोर किए जाने की सूचना जलनिगम को भेज दी गयी है। शीघ्र ही हैंडपम्पों को ठीक कराकर पेयजल व्यवस्था दुरूस्त करा दी जाएगी। ग्राम मडरासुमन, मीरपुर वाहनपुर, रसयांखानपुर, वरसिया, खांडेपुर, अहिरबाड़ा, किशनी, चौंसरा, कितनापुर, बड़ेपुरा घारम, राजूपुर कुडरी, अभयपुर चैना, मुसेली, नवदिया सितारगंज सहित कई ग्रामों में इंडिया मार्का हैंडपम्प खराब पड़े हुए है। बीडीओ कुंवर बहादुर सिंह का कहना है कि ग्रामीण अंचलों में खराब पड़े इंडिया मार्का हैंडपंपों को ठीक कराए जाने हेतु विभागीय अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है।

Posted By: Jagran