पीलीभीत, जेएनएन : नगर पालिका बोर्ड की बैठक में शहर की सफाई व्यवस्था की बदहाली का मुद्दा जोरशोर से उठा। इसके साथ ही जल निगम की ओर से पानी की पाइप लाइनें बिछाने से लिए खोदी गई सड़कों, गलियों की समुचित ढंग से मरम्मत नहीं कराए जाने पर कड़ी नाराजगी जताई। इस पर अधिशासी अधिकारी ने सभासदों को शांत करते हुए समुचित ढंग से सड़कों की मरम्मत कराने का आश्वासन दिया।

शुक्रवार को अपराह्न तीन बजे नगर पालिका कार्यालय के सभागार में हुई बैठक में कई सभासदों ने इस बात पर भी कड़ी नाराजगी जताई कि बोर्ड की बैठक में तय होने के बाद भी गृहकर व जलकर की दरें बढ़ाई गईं। मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने का मुद्दा इस बैठक में भी उठाया गया। तब ईओ ने कहा कि अगर कोई गरीब है और उस पर टैक्स बकाया है, उसके बारे में सभासद संस्तुति करें तो बगैर टैक्स वसूली के प्रमाण पत्र जारी करा दिया जाएगा। मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए अदेयता की रिपोर्ट लगाना राजस्व बढ़ाने के लिए अनिवार्य किया गया है। सभासदों ने कहा कि इन दिनों शहर में सफाई व्यवस्था अत्यंत लचर है। ऐसे में अतिरिक्त कर्मचारी लगाकर सफाई कराई जाए। साथ ही वार्डों में स्ट्रीट लाइटों का घोर अभाव है। बरसात के मौसम में स्ट्रीट लाइट व्यवस्था को भी दुरुस्त कराने की मांग की गई। बैठक का संचालन करते हुए अधिशासी अधिकारी सुरेंद्र प्रताप ने बताया कि सभासदों ने जो समस्याएं दी हैं, उनका जल्द ही निराकरण कराया जाएगा। पालिकाध्यक्ष विमला जायसवाल की अध्यक्षता में हुई बैठक में सभासद देवी सिंह एडवोकेट, संजीव सक्सेना, महेंद्र पाल, पुष्पा उपाध्याय, वतनदीप सिंह, सुनीता सिंह, भीम सिंह चौहान, विपिन कुमार, चेतन गंगवार, फरीन जहां, शिवली अहमद, मोहन स्वरूप, सलमा अनवर, मो. आसिफ खां, अवतार सिंह मोनू, सजदा बी, सांसद प्रतिनिधि माधुरी मिश्रा समेत अन्य सभासद मौजूद रहे।

Edited By: Jagran