संवाद सहयोगी, बीसलपुर (पीलीभीत) : खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिसर में स्थित ग्यासपुर प्राथमिक विद्यालय द्वितीय में प्रधानाध्यापक की ओर से लंबे समय से मदरसे में होने वाली प्रार्थना को कराना महंगा पड़ा। डीएम के निर्देश पर तत्काल प्रभाव से बीएसए ने निलंबित कर दिया है। हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं की शिकायत पर कार्रवाई हुई।

हिंदू युवा वाहिनी कार्यकर्ताओं ने एसडीएम सौरभ दुबे को ज्ञापन देकर अवगत कराया था कि खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिसर में स्थित ग्यासपुर प्राथमिक विद्यालय द्वितीय में कार्यरत प्रधानाध्यापक फुरकान अली लंबे समय से विद्यालय में सुबह होने वाली ईश्वर की प्रार्थना के स्थान पर मदरसे की प्रार्थना उर्दू में मनमाने ढंग से करा रहे हैं। प्रार्थना करने में बच्चों को परेशानी हो रही है अभिभावक भी असंतुष्ट हैं। शासन ने प्राथमिक विद्यालय में ईश्वर की प्रार्थना करने के निर्देश जारी कर रखे हैं जिसका अनुपालन नहीं किया जा रहा है। एसडीएम ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जांच कराकर आवश्यक कार्रवाई के लिए रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रेषित कर दी थी। बीएसए ने प्रधानाध्यापक को दोषी ठहराते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। खंड शिक्षा अधिकारी उपेंद्र कुमार विश्वकर्मा से भी पूछताछ की है। निलंबित होने वाले प्रधानाध्यापक पर परिषदीय जूनियर हाईस्कूल का भी चार्ज है। उधर निलंबित प्रधानाध्यापक फुरकान अली ने बताया कि शासन द्वारा भेजी गई उर्दू की पुस्तकों में मदरसों में होने वाली प्रार्थना को भी कराने की मान्यता दी गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप