पीलीभीत : सावन के तीसरे सोमवार को जलाभिषेक के लिए गंगाजल लेने कछला घाट गए कांवड़ियों के जत्थे दोपहर बाद लौटना शुरू हो गए। सभी कांवड़ियों के ठहरने के लिए कृषि उत्पादन मंडी समिति परिसर में व्यवस्था की गई है। सिटी मजिस्ट्रेट व सीओ सिटी ने मंडी परिसर में पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। गौरीशंकर मंदिर में भी सोमवार के लिए सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं।पिछले दिनों सिर्फ शहर से ही कांवड़ियों के दर्जनों जत्थे बदायूं जिले में स्थित कछला घाट रवाना हुए थे। रविवार को वहां से कांवड़ में गंगाजल भरकर कांवड़ियों के लौटने का सिलसिला दोपहर बाद शुरू हो गया। बरेली रोड पर स्थित खमरिया पुल आश्रम पर कांवरथी सेवा दल की ओर से सभी कांवड़ियों के लिए विश्राम एवं भोजन की व्यवस्था की गई। जत्थे आकर वहां रुकते और भोजन कर कुछ देर विश्राम के बाद शहर की ओर चल देते। शहर में कृषि उत्पादन मंडी समिति परिसर में कांवड़ियों के रात्रि विश्राम एवं भोजन, जलपान की व्यवस्था शहर के कुछ भक्तों की टीम ने कर रखी है। कांवड़ियों के जत्थे हर हर महादेव का उद्घोष करते हुए मंडी परिसर में लगातार पहुंच रहे हैं। शाम लगभग छह बजे तक लगभग चार सौ कांवड़िया मंडी समिति स्थल पर पहुंच चुके हैं। सिटी मजिस्ट्रेट अर्चना द्विवेदी तथा सीओ सिटी धर्म ¨सह मार्छाल ने मंडी स्थल पर पहुंचकर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। सोमवार को प्रात: से ही कांवड़ियों के जत्थे गौरीशंकर मंदिर के लिए निर्धारित मार्ग से चल पड़ेंगे। गौरीशंकर मंदिर में भी सावन के तीसरे सोमवार के लिए सुरक्षा के विशेष प्रबंध किए गए हैं। एसपी वालेंदु भूषण ¨सह ने गौरीशंकर मंदिर पहुंचकर सुरक्षा का जायजा लिया। मंदिर के मुख्य द्वार पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। जिससे प्रत्येक गतिविधि पर नजर रखी जा सके।---------------------

By Jagran