पूरनपुर (पीलीभीत) : चार माह पूर्व मकान बेचने के नाम पर महिला ने युवक से लाखों रुपये ठग लिया। रकम वापस मांगने पर महिला ने युवक को झूठे मुकदमे में जेल भिजवा दिया। जेल से वापस आए युवक का महिला ने साथियों के साथ मिलकर अपहरण की कोशिश की। अपराध करने में सफल न होने पर युवक को कार से कुचल कर जान से मारने की कोशिश की गई। पुलिस ने महिला समेत तीन अन्य के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया है।

15 मई 2018 को नगर के मुहल्ला गणेशगंज निवासी हिमांशु रस्तोगी पीलीभीत के मोहल्ला एकता नगर में मकान खरीदने गए थे। नीलम गुप्ता ने एक तीन कमरों का मकान दिखाकर 11 लाख में बेचने की बात कही। दोनों में सौदा तय होने पर हिमांशु ने महिला को डेढ़ लाख रुपये देकर बाकी रुपये एक माह के अंदर देने की बात कही। 5 दिन बाद महिला युवक से बाकी रुपयों की मांग करने लगी। रुपये न देने पर मकान को 14 लाख रुपये में दूसरी जगह सौदा करने की बात कही। इस पर हिमांशु ने 20 मई को एचडीएफसी बैंक से निकालकर 4 लाख 30 हजार व 5 लाख के चेक महिला को दिए। रुपये देने के बाद हिमांशु ने मकान की रजिस्ट्री कराने की बात कही तो मकान तीन कमरों की जगह एक कमरे का निकला। खोजबीन के दौरान पता चला कि जो मकान महिला ने दिखाया था वह किसी दूसरे का था। इस पर युवक ने अपने रुपये वापस मांगे तो महिला ने युवक के खिलाफ षड्यंत्र रच कर झूठा मुकदमा दर्ज करवा कर जेल भिजवा दिया। एक सप्ताह पूर्व महिला ने अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर लोधीपुर के पास युवक का अपहरण करने की कोशिश की। असफल होने पर उसको कार से कुचलकर जान से मारने का भी प्रयास किया गया। पीड़ित ने कोतवाली पहुंचकर पुलिस को पूरी घटना बताई। पुलिस ने महिला समेत तीन अन्य के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया है।

Posted By: Jagran