पीलीभीत,जेएनएन : झोपड़ी में अचानक आग लग गई, जिसमें घर में रखा घरेलू सामान जलकर राख हो गया। ग्रामीणों ने आग की लपटों पर बाल्टियों से पानी उड़ेलते हुए काफी मशक्कत के बाद काबू पाया।

गांव बिठौरा कलां निवासी ओमप्रकाश का घर कच्चा है। वह झोपड़ी डालकर पत्नी मीना व तीन बच्चे के साथ रहते थे। ईंट भट्ठे पर मजदूरी करके परिवार का पालन पोषण करते हैं। सोमवार रक्षाबंधन के दिन उनकी पत्नी बच्चों को लेकर भाई को राखी बांधने के लिए मायके गई थी। शाम के समय ओमप्रकाश अपनी झोपड़ी में बैठा था। अंधेरा होने के कारण उसने दीपक जला दिया। दीपक की लौ अचानक भड़की तो झोपड़ी में आग लग गई। आग की लपटें देखते ही उन्होंने शोर मचाना शुरू कर दिया। देखते ही देखते अनेक ग्रामीण मौके पर जा पहुंचे। लोगों ने घर के अंदर बंधी गाय को जल्दी से बाहर निकाला और आग बुझाने का प्रयास करने लगे। जब तक आग पर काबू पाया गया, तब तक घर का सारा सामान जलकर राख हो गया। मंगलवार को सुबह सूचना पाकर क्षेत्रीय लेखपाल दिवेश कुमार मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना किया। आग से हुए नुकसान का आकलन करके रिपोर्ट अधिकारियों को देंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस