फोटो 15 पीआइएलपी 15

संवाद सूत्र,दियोरिया कलां: नहर विभाग के अधिकारियों की अनदेखी के चलते ग्राम खरदह स्थित नहर कोठी की 5 एकड़ भूमि पर प्रभावशाली लोगों ने कब्जा जमा रखा है। ग्रामीणों की शिकायत के बाद भी इस मामले में कार्रवाई न होने से अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं।

ज्ञात रहे कि ब्रिटिश हुकूमत में गांव खरदाह के समीप नहर की खाली पड़ी जमीन पर अधिकारियों के ठहरने के लिए नहर कोठी का निर्माण कराया गया था। देश की आजादी के बाद इस कोठी पर खड़े लाखों रुपये के बेशकीमती आम, शीशम, जामुन,सेमल आदि लकड़ी माफिया ने काटकर सफाया कर दिया। नहर कोठी में लगी चौखटें किवाड़, खिड़की व गाटर आदि विभागीय अधिकारियों की लापरवाही से चोरों ने गायब कर दिए हैं। अधिकारियों की अनदेखी के चलते लगभग पांच एकड़ खाली जमीन को प्रभावशाली लोगों ने समतल बनाकर उस पर फसल उगाना शुरू कर दिया है। वर्तमान में उक्त भूमि पर सरसों की फसल खड़ी है। कई वर्षो से इस जमीन पर हो रही फसलों का कहीं लेखा-जोखा भी नहीं है आखिर इसकी पैदावार की रकम कहां जा रही है। नहर विभाग के जिलेदार अभय नाथ ने बताया कि खाली पड़ी जमीन नहर विभाग की है। इस भूमि पर फसल कराने का हक विभाग को है। फिलहाल उन्होंने यह नहीं बताया कि भूमि पर नियमानुसार फसल की जा रही है या कब्जा कर लोग जमीन पर फसल की बुवाई कर रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस