पीलीभीत,जेएनएन : शहर में रामा इंटर कॉलेज रोड पर बिजली का एक पोल काफी झुक गया है। इससे बरसात के मौसम में उसके गिर जाने का खतरा। इससे हादसा होने की लोगों को आशंका बनी रहती है। यह स्थिति सिर्फ यहीं पर नहीं है बल्कि शहर के कई मुहल्लों में कहीं नीचे से गल चुके तो कहीं तिरछे हो चुके पोल पर ही लाइनों के तार झूल रहे हैं।

शहर में भी कई स्थानों पर बिजली के पोल आड़े, तिरछे गिरताऊ हालत में खड़े हैं। मुहल्ला भूरे खां में कई ऐसे लोहे के पुराने पोल लगे हैं, जो नीचे से गल चुके हैं। ऊपर बिजली लाइनों के तार ही पोल को रोके हुए हैं। आंधी आने पर ऐसे पोल गिरने का खतरा बना रहता है। पोल गिरने पर बिजली लाइनें भी टूटना तय है। ऐसा हुआ तो फिर नया पोल लगाने और लाइन खींचने में काफी वक्त लग सकता है। मुहल्ला फीलखाना, मुहल्ला शेर मोहम्मद, आवास विकास कॉलोनी में भी कई पोल बहुत पुराने हो जाने के कारण नीचे से गल गए। गांवों में तो हालात और भी ज्यादा खराब है। खासकर बीसलपुर क्षेत्र में कई स्थानों पर गिरताऊ पोल लगे हैं। लोगों को हादसे की आशंका रहती है। जो पोल काफी पुराने हो चुके हैं, उन्हें बदल दिया जाना चाहिए। इससे पोल गिरने की आशंका नहीं रहेगी। वरना तो हादसा हो सकता है। अधिकारियों को इस ओर ध्यान देकर कार्रवाई करनी चाहिए।

मधुकर अग्रवाल लोहे के जो पोल लगे हैं, वे कई दशक पुराने हैं। इसी वजह से नीचे से गल गए। ऐसे पोल खतरनाक हो सकते हैं। बरसात के दौरान गिरने पर पूरे इलाके की बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो सकती है।

सुरेंद्र सिंह वास्तव में दशकों पुराने लोहे के पोल अपनी मियाद पूरी कर चुके हैं। अनेक स्थानों पर बिजली विभाग ने पुराने पोल बदले भी हैं, जहां अभी रह गए, वहां भी हटाकर नए पोल लगाने चाहिए।

दिनेश शुक्ल शहर में कई स्थानों पर खराब हो चुके पोल बदलवाए जा चुके हैं। अगर कहीं कोई तिरछा या गिरताऊ पोल अभी लगा रह गया है तो उसे भी बदलवा दिया जाएगा।

-अतुल कुमार, एसडीओ टाउन

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस