जागरण संवाददाता, पीलीभीत : बारावफात पर्व के मौके पर शहर में देर रात निकले जुलूस ए मुहम्मदी में अकीदतमंदों का सैलाब उमड़ आया। इस दौरान जुलूस के रास्ते पर भव्य सजावट रही। लोगों ने अपने घरों व प्रतिष्ठानों को भी आकर्षक ढंग से सजाया। चारो ओर रसूल के यौमे पैदाइश की खुशी छाई हुई दिखी। अपने तयशुदा रास्तों पर भ्रमण करने के बाद यह जुलूस उसी स्थान पर जाकर खत्म हुआ, जहां से शुरुआत हुई। जुलूस की सुरक्षा के लिए भारी पुलिस फोर्स साथ रहा। इसके अलावा रास्तों पर भी जगह-जगह पुलिस के जवान सुरक्षा ड्यूटी पर मुस्तैद रहे। डीएम, एसपी समेत अन्य अधिकारी भी भ्रमण करते हुए सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे।

आस्तान ए हशमतिया से रविवार को देर रात करीब 10.45 बजे सज्जादानशीन मौलाना जरताब रजा खां की सरपरस्ती में जुलूस ए मुहम्मदी शुरू हुआ। इस दौरान मौलानाओं ने तकरीर करते हुए रसूल की जिदगी पर रोशनी डाली। सभी लोगों से रसूल के उसूलों पर चलने की नसीहत दी। हशमत नगर से शुरू हुआ जुलूस बेलों वाला चौराहा, कमल्ले चौराहा, शाहजी मियां की दरगाह शरीफ के सामने से होते हुए छोटी मार्केट, शाही जामा मस्जिद के सामने से होकर चौक बाजार पहुंचा। यहां से सुनहरी मस्जिद, धुनों वाला चौराहा, कोतवाली तिराहा, फीलखाना, पंजाबियान, जाटों का चौराहा होते हुए फिर हशमत नगर पहुंचकर संपन्न हो गया। जुलूस शुरू होने से पहले ही कमिश्नर रणवीर प्रसाद व डीआइजी राजेश पांडेय यहां पहुंचे और लोक निर्माण विभाग में डीएम वैभव श्रीवास्तव व एसपी अभिषेक दीक्षित समेत अन्य प्रमुख अधिकारियों के साथ बैठक करके जुलूस की सुरक्षा संबंधी जानकारी हासिल की। जुलूस के दौरान शहर में भारी संख्या में पुलिस फोर्स सुरक्षा के लिए लगा रहा। खुद डीएम और एसपी ने भी भ्रमण करके सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

--------

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस