जेएनएन, पीलीभीत: लकड़ी मंडी होते हुए रोडवेज को जाने वाली सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे हो चुके हैं, जिसे भरवाने के लिए कोई भी विभाग आगे नहीं आ रहा है। बरसात के मौसम में इन गड्ढों में पानी भरा रहता है। वाहन स्वामियों और दुकानदारों को मुसीबत उठानी पड़ती है।

लकड़ी मंडी से होते हुए रोडवेज की ओर का सफर लोगों के लिए मुसीबत बन चुका है। इस रोड पर बड़े-बड़े गड्ढे अपनी पहचान बना चुके है। बाजार की तरफ से होते हुए लकड़ी मंडी में प्रवेश करते ही एक बहुत बड़ा गड्ढा बना हुआ है। उस गड्डे के पास बनी एक दुकान स्वामी सद्दाम ने बताया कि यह गड्डे इतने पुराने हो चुके हैं, कि अब इनके भरने का कोई सवाल ही नहीं है। इन गड्ढों को बचाने के प्रयास में बाइक सवार गिरकर चोटिल होते रहते हैं। नाले से लगभग थोड़ा आगे बढ़ने पर पूरे रोड पर चारों ओर गड्ढे ही गड्ढे हैं। वहां मौजूद सलीम ने बताया कि ठेलिया चालक अपने ठेली पर जब सामान लेकर इधर से गुजरते है, तो उनके ठेला आए दिन इन गड्ढों में गिरकर टूटते रहते है। वहीं वाहनों के निकलने से कभी कभार पत्थर तक लोगों की दुकानों में पहुंच जाता है। इन गड्ढों को भरवाने तक की नहीं सोची जा रही है। बरसात में रोडवेज डिपो जाने वाले यात्रियों को भारी दिक्कत उठानी पड़ती है।

------------

बरसाती मौसम में इन गड्ढों में ज्यादा परेशानी होती है। अंजान व्यक्ति को इन गड्ढों का अंदाजा नहीं होता है और वह इनमें गिर जाता है।

- जाकिर इस रोड को दुरुस्त कराने का ठोस कदम नहीं उठाया जाता है। जबकि यह रोडवेज डिपो व बाजार जाने का मुख्य रास्ता है। उसके बावजूद यह सड़क किसी तालाब से कम नहीं है।

- श्रवण कुमार अग्रवाल

Posted By: Jagran