पीलीभीत : शहर में एक तरफ मच्छरों से निजात दिलाने के लिए फा¨गग कराई जा रही है, तो दूसरी ओर नगर पालिका परिषद के पूर्व चेयरमैन के दफ्तर से चंद कदम दूरी पर गंदा पानी भरा है। गंदे पानी की निकासी की दिशा में कोई कदम नहीं उठाए गए। टनकपुर हाईवे किनारे गोबर के ढेर लगे हुए हैं, जिससे उठने वाली दुर्गंध से लोग परेशानी हो रहे हैं।

नगर पालिका परिषद के चेयरमैन पर शहर की साफ-सफाई दुरुस्त रखने, पेयजल व्यवस्था, प्रकाश व्यवस्था, जन्म-मृत्यु प्रमाणपत्र जारी कराने आदि काम को कराने की जिम्मेदारी है। इसमें से सबसे अहम कार्य है साफ-सफाई। स्वच्छ भारत मिशन के तहत लोगों को सफाई रखने के प्रति जागरूक किया जा रहा है। घर-घर जाकर कूड़ा लेने का काम किया जा रहा है। टनकपुर हाईवे के दोनों किनारे पर गंदगी का साम्राज्य है। शहर के छतरी चौराहा पर नगर पालिका परिषद की चेयरमैन विमला जायसवाल के पति पूर्व चेयरमैन प्रभात जायसवाल का दफ्तर है, जहां पर पूरे दिन बैठकर जनता की समस्याएं सुनते हैं। पूर्व चेयरमैन के दफ्तर से चंद कदम दूरी पर गंदा पानी भरा हुआ है, जिसे कई दिन हो चुके हैं। इस गंदे पानी में मच्छर आदि पनप चुके हैं, जिससे कभी भी कोई संक्रामक बीमारी की चपेट में आ सकता है। टनकपुर हाईवे पर कुछ दूर बढ़ने पर गोबर और कूड़े का ढेर लगा देखा जा सकता है।

Posted By: Jagran