जागरण संवाददाता, पीलीभीत : टाइगर रिजर्व की ओर से चलाए जा रहे वन्य जीव सप्ताह के अंतिम दिन पीटीआर मुख्यालय में समापन हो गया। मुख्य अतिथि एफडी डॉ. एच. राजामोहन ने कहा कि बाघों को बचाना हम सबका धर्म है। बाघ रहेंगे तो पर्यावरण संतुलन भी कायम रहेगा। वन्यजीवों के अभाव में पर्यावरण की भारी क्षति हो सकती है।

समारोह में एक से सात अक्टूबर तक मनाए गए वन प्राणी सप्ताह में पुष्प इंस्टीट्यूट, अंगूरी देवी कॉलेज, ड्रमंड राजकीय इंटर कॉलेज और न्यू मांट्रेसरी स्कूल व कॉलेज के बच्चों को विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के उपरांत प्रथम द्वितीय, तृतीय पुरस्कार से नवाजा गया। कार्यक्रम का शुभारंभ पीटीआर के डिप्टी डायरेक्टर नवीन खंडेलवाल ने किया। उन्होंने सप्ताह भर क्या-क्या कार्यक्रम किए गए और कैसे वन जीवन के प्रति लोगों को जागरूक किया गया, इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी। पर्यावरणविद तहसीन हसन खान ने समिति व सोसाइटी द्वारा पिछले कई दशकों से जंगल को रिजर्व बनाने के लिए क्या-क्या काम किए कितनी कुर्बानी दी उसका लेखा-जोखा सबके सामने रखा। वन्य प्रेमी परवेज हनीफ में कहा कि कई सालों से वन्य जीवन मानव आबादी की वजह से घटता जा रहा है इस पर सरकार को ठोस कदम उठाना चाहिए। पुष्प कॉलेज के डायरेक्टर डा.सतवंतपाल सिंह संधू ने कहा कि आए दिन पेड़ कटान के मामले सामने आते हैं, लेकिन इन मामलों की बारीकी से जांच की जाए। मुख्य अतिथि पीटीआर के फील्ड डायरेक्टर ने कहा कि हम पिछले एक सदी में कई टाइगर प्रजाति खो चुके हैं। अब बची हुई प्रजातियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाना है। उनके संरक्षण के लिए विभाग से परे हटकर ग्रामीण एवं वन प्रेमियों का सहयोग चाहिए होगा। विभागीय टीम वन जीवन को इतने करीब से नहीं जानती जितना जंगल के आसपास रहने वाले लोग। हमें मिलजुल कर वन्य जीवन का रक्षा करना होगी। इनकी रक्षा ही हमारा धर्म है। कार्यक्रम के अंत में वन जीव संघर्ष के दौरान रेस्क्यू करने वाली टीम को सम्मानित किया गया। सप्ताह भर कार्यक्रम में भाग लेने वाले विद्यार्थियों समेत समस्त स्टाफ को भी प्रशस्ति पत्र दिए गए। कार्यक्रम का समापन सामाजिक वानिकी के डीएफओ संजीव कुमार ने किया। इस मौके पर सीओ सिटी धर्म सिंह मार्छाल, हरीश चंद, धर्मेन्द्र, प्रमोद कुमार, सर्वेश कुमार, संतोष खरे, नरेश कुमार परियोजना अधिकारी, कन्हईलाल, प्रशासनिक अधिकारी श्री राम, डब्लूटीआइ डॉ. दक्ष गंगवार, डॉ. सुनील सक्सेना, डॉ. राजुल राठौर, लक्ष्मीकांत शर्मा, डॉ. डीके गंगवार, अख्तर मियां खान,नवाज खान, अदनान, अधिवक्ता डीपी सिंह आदि मौजूद रहे। बिलाल मियां को पिछले 5 साल से लगातार पीलीभीत टाइगर रिजर्व में वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी में प्रथम स्थान मिल रहा है। वन्य जीवन पर फोटो प्रतियोगिता कराई गई जिसमें 8 फोटोग्राफर ने वन जीवन के पर अपने द्वारा खींचे गए फोटो लगाए। बिलाल मियां को प्रथम स्थान, कासिम बिलाल को द्वितीय एवं अक्षय शर्मा को तृतीय स्थान मिला।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप