संस, पूरनपुर (पीलीभीत)

: भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने धान की सीधी खरीद को लेकर तहसील में पंचायत कर नौ सूत्रीय ज्ञापन मुख्यमंत्री को संबोधित उप जिलाधिकारी को सौंपा। एसडीएम ने धान को लेकर उठाई समस्याओं का शीघ्र निराकरण कराने के आश्वासन दिया।

पंचायत के जरिए दिए गए ज्ञापन के दौरान मांग रखी गई कि किसानों को अपने खेत में पराली जलाने पर लगाए गए प्रतिबंध को तत्काल हटाया जाए। राइसमिलरों द्वारा किसानों से की जा रही सीधी धान खरीद को बंद कराया जाए। उन्हें मंडी समिति में बुलाकर नीलामी प्रक्रिया से धान की खरीदारी करने के लिए निर्देशित किया जाए। सीधी खरीद कर वह मोटा मुनाफा कमा रहे हैं जिससे सरकार द्वारा किसानों को समर्थन मूल्य नहीं मिल पा रहा है। धान खरीद करने के लिए लगे विभिन्न एजेंसियों के क्रय केंद्रों पर किसानों को नमी बताकर लौटाया जा रहा है जिससे मजबूरन उन्हें बिचौलियों के हाथ बेचना पड़ रहा है। जंगली जानवर और बाघ का आतंक जनपद में लगातार जारी है। तार फैंसिग करा कर उन्हें रोका जाए। मंडी समिति में आढ़तियों द्वारा किसान सौ 2 फीसदी मुद्दत के नाम पर कटौती की जा रही है। इसको बंद किया जाए। आवारा पशुओं को पकड़कर पशु आश्रय गृह में भेजा जाए। विद्युत की अवैध कटौती पर रोक लगाई जाए। शेड्यूल के अनुसार ग्रामीण क्षेत्र में 18 घंटे बिजली दी जाए। पेट्रोल पंप पर भारी घटतौली की जा रही है। उपजिलाधिकारी ने पंचायत में पहुंचकर किसानों को शीघ्र समस्याओं के निस्तारण का आश्वासन दिया। ज्ञापन देने वालों में वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष सरदार मंजीत सिंह, वेद प्रकाश शर्मा, स्वराज सिंह, घासीराम, पुत्तू लाल, सोहनलाल, गौरव चौधरी, करन सिंह, परमजीत सिंह, सतनाम सिंह, मनवीर सिंह, जगतार सिंह, बलजीत सिंह, सुंदर लाल, मुरारी प्रसाद, तिलकराम मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप